Thursday, 4 June 2020

हथिनी के साथ विश्वासघात से नाराज सैंड आर्टिस्ट ने समाज को दिखाया आईना

NBT
केरल के मल्लापुरम में हथिनी की मौत से दुखी छपरा के सैंड आर्टिस्ट अशोक ने इसे विश्वासघात बताते हुए एक सैंड आर्ट बनाया है। खाने की तलाश में इंसानी आबादी में पहुंची गर्भवती हथिनी को कुछ लोगों ने पटाखों से भरा अनानास दे दिया था। ये अनानास हथिनी के मुंह में फट गया और तीन बाद उसकी मौत हो गई। घायल हथिनी इतने दर्द में थी कि तीन दिनों तक वह कुछ खा-पी भी नहीं पाई और लगातार पानी में खड़ी रही।
हथिनी की मौत से लोगों में गुस्सा
इस घटना के लोकर पूरे देश में गुस्सा है। सोशल मीडिया पर लगातार आरोपियों के कड़ी सजा देने की मांग हो रही है। इस बीच सैंड आर्टिस्ट अशोक ने अपने गुस्से का इजहार सैंड आर्ट के जरिए किया है। उन्होंने हथिनी के साथ किए गए सलूक को विश्वासघात बताया है। अपने सैंड आर्ट के जरिए हथिनी को अपनी श्रद्धांजलि दी है। यही नहीं, उन्होंने हथिनी के साथ ऐसा व्यवहार करने वाले आरोपियों को जल्द गिरफ्तार करने और उनके खिलाफ कार्रवाई की मांग की है।

'हाथियों को मारना भारतीय संस्कृति नहीं'
सैंड आर्टिस्ट अशोक ने कहा कि हाथियों को पटाखा खिलाना और मारना भारतीय संस्कृति नहीं है। अपने बनाए सैंड आर्ट में अशोक ने हाथी को गणेश जी की प्रतिमा के सामने गिरा हुआ दिखाया है, जिसके पेट में एक छोटा सा गर्भस्थ शिशु भी दिख रहा है। सरयू के घाट पर बने सैंड आर्ट को अशोक ने दो दिन में तैयार किया है। हाथी की मौत के बाद पशु प्रेमियों में काफी आक्रोश दिख रहा है।

हथिनी के साथ ऐसा करने वालों पर सख्त कार्रवाई की मांग
पूरा मामला केरल के मलाप्‍पुरम के एक फॉरेस्‍ट ऑफिसर ने सोशल मीडिया पर उस हथिनी की दर्दनाक कहानी सामने रखी। सोशल मीडिया पर जब यह खबर वायरल हुई तो लोगों ने इस पर जमकर प्रतिक्रिया दी है। उन्होंने ऐसा करने वालों पर जमकर निशाना साधा। किसी यूजर ने कहा कि वो इंसान नहीं राक्षस थे। वहीं कुछ ने कहा कि इंसान की ऐसी हरकतों की वजह से कोरोना वायरस जैसी महामारी आती है।