Wednesday, 5 February 2020

टीम इंडिया को स्लो ओवर रेट के लिए किया गया फाइन, मैच फीस की 80 फीसदी रकम देनी होगी


वेलिंगटन, आइएएनएस। हैमिल्टन में खेले गए तीन मैचों की वनडे सीरीज के पहले ही मैच में टीम इंडिया को दोहरा बड़ा झटका लगा। पहले तो भारतीय टीम को इस मैच में बड़ा स्कोर खड़ा करने के बावजूद हार का सामना करना पड़ा और उसके बाद इस मैच में स्लो ओवर रेट के लिए फाइन भी किया गया। आइसीसी ने एक बयान जारी करके कहा कि भारतीय टीम को इस बार स्लो ओवर रेट के लिए मैच फीस की 80 फीदसी रकम जुर्माने के तौर पर देनी होगी। हालांकि विराट कोहली ने अपनी इस गलती को मान ली है।
इस मुकाबले के मैच रेफरी क्रिस ब्रॉड ने पाया कि भारतीय टीम ने तय सीमा में अपने ओवर पूरे नहीं किए और चार ओवर एक्स्ट्रा टाइम लेकर फेंका गया। आइसीसी के कोड ऑफ कंडक्ट के आर्टिकल 2.22 के मुताबिक तय सीमा के बाद जितने भी ओवर फेंके जाते हैं उसके लिए टीम को प्रति मैच 20 फीसदी मैच के रकम के तौर पर जुर्माना लगाया जाता है। भारत ने चार ओवर हैमिल्टन में खेले गए वनडे मैच में तय सीमा के बाद फेंके गए और इसके बाद टीम पर मैच फीस का 80 फीसदी जुर्माने के तौर पर लगाया गया।
विराट कोहली ने अपनी इस गलती को मान लिया और जो जुर्माना लगाया गया उसे उन्होंने स्वीकार कर लिया। विराट के इस स्वीकारनामे के बाद अब इस मामले में किसी भी तरह की कोई सुनवाई नहीं की जाएगी। ये लगातार तीसरा मौका है जब टीम इंडिया को स्लो ओवर रेट के लिए फाइन किया गया है। इससे पहले भारतीय टीम पर न्यूजीलैंड के खिलाफ चौथे और पांचवें टी-20 में धीमी ओवर गति के लिए 40 और फिर 20 फीसदी का जुर्माना लगा था। आपको बता दें कि इस मैच में टीम इंडिया ने 347 रन बनाए थे। कीवी टीम को जीत के लिए जो लक्ष्य मिला था उसे चार विकेट शेष रहते ही इस टीम ने हासिल कर लिया और तीन मैचों की सीरीज में 1-0 की बढ़त बना ली।