Friday, 6 December 2019

हैदराबाद का वो 'एनकाउंटर स्पेशलिस्ट', जिसने गैंगरेप के चारों आरोपियों को एनकाउंटर में किया ढेर

नई दिल्ली। हैदराबाद में महिला डॉक्टर के साथ गैंगरेप और फिर उसे जलाकर मारने वाले चारों आरोपियों को पुलिस ने एनकाउंटर में ढेर कर दिया है। शुक्रवार तड़के पुलिस क्राइम सीन को दोहराने के लिए इन चारों आरोपियों को घटनास्थल पर लेकर जा रही थी कि तभी इन्होंने भागने की कोशिश की, जिसके बाद पुलिस ने पहले तो इन्हें रुकने के लिए कहा और जब ये नहीं रुके तो पुलिस ने चारों आरोपियों को मुठभेड़ में ढेर कर दिया। इस एनकाउंटर के बाद लोग हैदराबाद पुलिस की जमकर तारीफ कर रहे हैं। हालांकि चारों आरोपियों के इस एनकाउंटर में सबसे ज्यादा तारीफ साइबराबाद के पुलिस कमिश्नर वीसी सज्जनार की हो रही है।

वीसी सज्जनार की हो रही है जमकर तारीफ

पुलिस से जुड़े सूत्रों की मानें तो महिला डॉक्टर के साथ दरिंदगी करने वाले चारों आरोपियों के एनकाउंटर में मुख्य रोल पुलिस कमिश्नर वीसी सज्जनार का रहा। वीसी सज्जनार ने ही इस केस को लीड किया। महिला डॉक्टर के साथ गैंगरेप और हत्या की घटना के बाद वीसी सज्जनार ने मीडिया के सामने कहा था कि वो आरोपियों को बहुत जल्द सलाखों के पीछे डाल देंगे और महज 3 दिन के भीतर पुलिस ने चारों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया। इसके बाद पुलिस जब शुक्रवार तड़के 3 बजे के आसपास इन चारों को क्राइम सीन को दोहराने के लिए घटनास्थल पर लेकर जा रही थी तो आरोपियों के भागने की कोशिश पर पुलिस ने तुरंत एक्शन लेते हुए चारों का एनकाउंटर कर दिया।

एनकाउंटर स्पेशलिस्ट कहे जाते हैं सज्जनार

पुलिस कमिश्नर वीसी सज्जनार को एनकाउंटर स्पेशलिस्ट कहा जाता है। दरअसल वीसी सज्जनार इससे पहले भी इसी तरह की एक और घटना में तीन आरोपियों को एनकाउंटर में ढेर कर चुके हैं। 2008 में आंध्र प्रदेश पुलिस ने वारंगल शहर में तीन लोगों को इंजीनियरिंग की दो छात्रों पर कॉलेज से लौटते वक्त तेजाब फेंकने के आरोप में गिरफ्तार किया था। इस घटना के विरोध में लोगों ने काफी विरोध प्रदर्शन किए। इसके बाद पुलिस ने मुठभेड़ में इन तीनों आरोपियों को मार गिराया। इस एनकाउंटर को भी तत्कालीन एसपी वीसी सज्जनार ने ही लीड किया था। हालांकि हैदराबाद के एककाउंटर को लेकर कुछ लोग सोशल मीडिया पर सवाल भी उठा रहे हैं।

मदद के नाम पर किया था महिला डॉक्टर से रेप

आपको बता दें कि हैदराबाद में बीते 27 नवबंर को एक महिला डॉक्टर का जला हुआ शव बरामद हुआ था। पुलिस ने छानबीन की तो पता चला कि महिला को जलाकर मारने से पहले उसके साथ गैंगरेप किया गया था। इसके बाद पुलिस ने मामला दर्ज करते हुए चार आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया। जानकारी के मुताबिक महिला डॉक्टर कहीं से अपने घर लौट रही थी कि तभी रास्ते में उसकी स्कूटी पंक्चर हो गई। इसके बाद चारों आरोपियों ने उसकी मदद करने के बहाने उसके साथ गैंगरेप किया और बाद में जलाकर मार डाला। इस घटना को लेकर लोगों में जबरदस्त गुस्सा था और महिलाओं की सुरक्षा को लेकर लगातार विरोध प्रदर्शन कर रहे थे।

चारों आरोपियों के खिलाफ था लोगों में गुस्सा

गौरतलब है कि हाल ही में चारों आरोपियों को लेकर साइबराबाद पुलिस की स्पेशल ब्रांच और खुफिया विभाग ने स्थानीय पुलिस को एक अलर्ट भी जारी किया था। खुफिया विभाग और स्पेशल ब्रांच ने इस घटना के बाद उपजे स्थानीय लोगों के गुस्से और विरोध प्रदर्शन को देखते हुए साइबराबाद पुलिस को अलर्ट जारी करते हुए कहा था कि चारों आरोपियों को हिरासत के दौरान शादनगर पुलिस स्टेशन में रखना खतरनाक हो सकता है। खुफिया विभाग की तरफ से मिले इनपुट के बाद साइबराबाद पुलिस ने तय किया था कि चारों आरोपियों को चेरलापल्ली सेंट्रल जेल में रखकर उनसे वहीं पूछताछ की जाएगी। महिला डॉक्टर के साथ दरिंदगी करने वाले इन चारों आरोपियों के खिलाफ लगातार गुस्सा बढ़ रहा था और खुफिया विभाग को आशंका थी कि भीड़ उत्तेजित होकर आरोपियों पर हमला कर सकती है।