Tuesday, 3 December 2019

हैदराबादः गैंगरेप के मास्टरमाइंड आरिफ ने मां से भी बोला था झूठ, बताई थी यह कहानी

हैदराबादः गैंगरेप के मास्टरमाइंड आरिफ ने मां से भी बोला था झूठ, बताई थी यह कहानी
हैदराबाद. साइबराबाद में वेटनरी डॉक्टर से हैवानियत और गैंगेरेप की खबर ने पूरे देश को झंकझोर कर रख दिया है। इसके साथ ही लोग गैंगरेप के सभी आरोपियों की फांसी की मांग को लेकर सड़कों पर उतरे हुए हैं। इन सब के बीच इस घिनौनी वारदात के मुख्य आरोपी ट्रक ड्राइवर आरिफ की मां का चौंकाने वाला बयान सामने आया है।
धक्का मारा तो हो गई मौत
दरिंदगी की घटना को अंजाम देने के बाद मुख्य आरोपी आरिफ घर पहुंचा तो अपनी मां मोलानबी को घटना के बारे में जानकारी दी। लेकिन हकीकत से कोसों दूर। आरोपी की मां ने बताया, मेरा बेटा 28 नवंबर की रात करीब एक बजे घर आया और बेहद डरा हुआ था। आरिफ ने बताया कि उसने किसी को मार डाला है। उसने कहा ‘मैं एक तरफ से अपनी लॉरी ले कर आ रहा था वहीं दूसरी तरफ से बाइक पर बैठी एक महिला आ रही थी। मैंने उसे धक्का मार दिया और उसकी मौत हो गई। '
गैंगरेप के बारे में नहीं दी कोई जानकारी
आरोपी आरिफ की मां ने बताया कि डॉक्टर महिला से गैंगरेप के बारे में उसे कुछ भी पता नहीं था। उसका बेटा ही घर चलाता था और वो अपनी जिंदगी में क्या कर रहा था और कौन-कौन उसके दोस्त थे इसके बारे में भी कोई जानकारी नहीं थी। मुख्य आरोपी आरिफ की मां के मुताबिक उसका 25 साल का बेटा ट्रक ड्राइवर का काम करता है और उसने अपनी पूरी जिंदगी जक्कुलर गांव में ही बिताई है। उसकी मां मोलानबी ने बताया कि उसके बेटे ने उसे बताया कि महिला की मौत हादसे में हुई है लेकिन पुलिस को कुछ और ही शक है।
घटना की रात खाने से कर दिया मना
बेटे के पकड़े जाने की बात सामने आने के बाद आरिफ की मां ने बताया कि जब उसने हादसे में लड़की की मौत की बात बताई। उसके बाद मैंने उससे खाना खाने के बारे में पूछा, जिस पर उसने मना कर दिया। इसके बाद वो सोने की बात करने लगा और उसे तनाव में देखकर हम सब सो गए। कुछ ही घंटों के बाद 6 पुलिसवाले बिना वर्दी के आए और उसे उठा कर ले गए। अपने बेटे से वो उसकी आखिरी मुलाकात थी। बेटे आरिफ के गैंगरेप में शामिल होने की बात सुनकर उसकी मां मोलानबी रोने लगती हैं और लोगों से हाथजोड़ कहती हैं कि मुझे रेप के बारे में कुछ नहीं पता और इसके बारे में कुछ नहीं सुनना है।
यह थी पूरी घटना
गौरतलब है कि साइबराबाद पुलिस ने बुधवार को 22 साल की पशु चिकित्सक युवती के साथ सामूहिक दुष्कर्म और हत्या के मामले में शुक्रवार को चार संदिग्धों को गिरफ्तार कर लिया था। हिरासत में लिए गए लोगों में एक ट्रक ड्राइवर और एक क्लीनर शामिल हैं। आरोपियों ने युवती के साथ सामूहिक दुष्कर्म किया और बाद में गला घोंटकर उसकी हत्या कर दी और शव को जला दिया।