Saturday, 25 April 2020

निर्भया के गुनहगार अक्षय की याचिका खारिज होते ही फूट पड़ी पत्नी, बोली- मुझे भी लटका दो

निर्भया के गुनहगार अक्षय की याचिका खारिज होते ही फूट पड़ी पत्नी, बोली- मुझे भी लटका दो
,,
नई दिल्ली। निर्भया दुष्कर्म-हत्या मामले के चार दोषियों में से एक अक्षय सिंह की ओर से फांसी को रोकने के लिए दायर याचिका खारिज होते ही उसकी पत्नी कोर्टरूम में ही फूट-फूटकर रोने लगी। न्यायाधीश द्वारा याचिका खारिज कर दिए जाने के बाद अक्षय की पत्नी ने कोर्ट में कहा, "अब मैं कैसे जी पाऊंगी? मुझे भी लटका दो।"
कोर्ट में जब यह हाईवोल्टेज ड्रामा चल रहा था, उस समय निर्भया की मां भी वहां मौजूद थीं। चारो दोषियों- विनय, मुकेश, अक्षय और पवन को तय तारीख यानी 20 मार्च को सुबह 5.30 बजे तिहाड़ जेल के फांसीघर में फांसी पर लटकाया जाएगा। मेरठ से बुलाया गया पवन जल्लाद चारों के गले का फंदा कसेगा।
राष्ट्रीय राजधानी में 16 दिसंबर, 2012 की रात 23 साल की फिजियोथेरेपी छात्रा के साथ एक खाली चलती बस में क्रूरतापूर्वक दुष्कर्म और लोहे की रॉड से वार किया गया था। निर्भया को अधमरी हालत में बस से फेंक दिया गया था। उसका इलाज पहले सफदरजंग अस्पताल में चला, हालत में सुधार न होने पर उसे विशेष विमान से सिंगापुर भेजा गया, जहां वारदात के 13वें दिन उसकी मौत हो गई।