Friday, 17 April 2020

दिल्ली: लॉकडाउन में लाइफलाइन बनी बैल गाड़ी, एक बार फिर लौटा पुराना दौर


नई दिल्ली: लॉकडाउन के दौरान बैल गाड़ियां लोगों के लिए लाइफलाइन बन गई हैं. गेंहू, आटा, दाल, चावल जैसी हर जरूरी सामान की सप्लाई इसी बैलगाड़ी से हो रही है. पुरानी दिल्ली के नए बाजार से दाल ओर चावलों की सप्लाई पूरी दिल्ली में होती है. लॉकडाउन में इन बैल गाड़ी वालों का काम अचानक से ही बढ़ गया. दरअसल शुरुआत में इन बाजार से सप्लाई करने वाले टैम्पो और ट्रक को चलने की इजाजत नहीं मिली और इस दौरान दिल्ली और आसपास के शहरों की जरूरत यही बैल गाड़ियां पूरी कर रही थीं.

नया बाजार में बैल गाड़ी चलाने वाले किशन का कहना है ने बताया कि उसकी तरह ही हजारों बैल गाड़ी पुरानी दिल्ली इलाके में चलती है. कई दशकों से ये बैल गाड़िया यहां चल रही हैं. किशन ने कहा कि लॉकडाउन की शुरुआत में तो अच्छा काम मिला लेकिन फिर से अब टैम्पो और दूसरी गाड़ियों को भी परमिशन मिल गई. जिससे इनका काम पहले की तरह हो गया और काम कुछ कम हो गया है.

बाजार के ही एक दुकानदार विजय गोयल का कहना है की काम बहुत कम है, जहां से आर्डर आ रहे हैं, माल की सप्लाई हो रही है. पुरानी दिल्ली और आसपास के इलाकों में जिसमें शाहदरा तक का इलाका है वहां पहले बैल गाड़ी से सप्लाई होती थी और अब भी हो रही है. दिल्ली के दूर के इलाको में ट्रक और टैम्पो से ही माल जाता है. लेकिन इस बदलते युग में संकट के समय यही दशकों पुरानी बैल गाड़ी ही काम आयी.