Thursday, 23 January 2020

इमरान खान ने कहा- हम महान थे, सिर्फ क्रिकेट ही नहीं दूसरे खेलों में भी भारत को रौंद देते थे


नई दिल्ली, जेएनएन। विश्व क्रिकेट में इन दिनों भारत की हालत क्या है और पाकिस्तान किस हालात में है ये सबको पता है। ऐसे में पाकिस्तान क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान और प्रधानमंत्री को अपने बीते दिनों की याद सता रही है। इस याद को उन्होंने अपने शब्दों में बयां किया है। इमरान खान ने अपनी कप्तानी में पाकिस्तान को 1992 में वनडे विश्व कप खिताब दिलाया था। इमरान ने उन दिनों को याद किया जब वो क्रिकेट में सक्रिय थे और पाकिस्तान की टीम भारत पर हावी रहती थी। इसके अलावा उन्होंने फील्ड हॉकी में भी पाकिस्तान की स्थिति को लेकर बात की।
इमरान खान ने 50वीं वर्ल्ड इकॉनामी फोरम में बात करते हुए कहा कि जब मैं क्रिकेट खेल रहा था तब भारत हमसे सात गुणा ज्यादा बड़ा था, लेकिन हम उन्हें लगातार रौंद रहे थे। सिर्फ क्रिकेट ही नहीं हॉकी और दूसरे खेलों में भी भारत की यही हालत थी। वो हमसे आगे नहीं थे। हम महान थे।
इमरान खान ने कहा कि उन्होंने क्रिकेट में अपने शुरुआती दिनों से सीखा कि खेल की पेशेवर दुनिया में दूसरे स्थान पर आने के लिए कोई पुरस्कार नहीं है। यही नहीं उन्होंने ये भी कहा कि हारने वालों के लिए कोई सहानुभूति नहीं है। इमरान खान अपने वक्त में दुनिया के बेस्ट ऑलराउंडर माने जाते थे। उनकी कप्तानी में साल 1986-87 में पाकिस्तान ने भारत को टेस्ट सीरीज में हराया था। इमरान ने अपनी कप्तानी में भारत में यही एकमात्र टेस्ट सीरीज जीता था।
इमरान ने पाकिस्तान के लिए 88 टेस्ट मैच खेले थे जिसमें उन्होंने 362 विकेट लिए थे और 3807 रन बनाए थे। इसके अलावा उन्होंने पाकिस्तान के लिए 175 वनडे मैचों में शिरकत की थी और 182 विकेट लेने के अलावा 33.41 की औसत से 3709 रन बनाए थे। इमरान खान को एक शानदार ऑलराउंडर के तौर पर देखा जाता था।