Tuesday, 28 January 2020

ये 3 लक्षण बचाते हैं जान, शरीर में कैंसर है या नहीं, आसानी से कराते पहचान

कैंसर मानव शरीर को अंदर से पूरी तरह खोखला कर देती है। इंसान को अगर समय रहते बेहतर इलाज न मिल सके तो उसकी मृत्यु भी हो जाती है। तो इसीलिये कैंसर को लेकर हमेशा सजग रहना चाइये। लेकिन यंहा पर एक सवाल उठता है। की कैसे पता करे कि किसी इंसान को कैंसर जैसे बीमारी है। जिससे उसे समय रहते इलाज करके उसे बचाया जा सके।
दोस्तों दुनिया में कैंसर होने के कई तरह के लक्षण होते है। इंसान को शुरुआत में इन लक्षण का पता समय रहते नहीं चल पाता है जिसकी बजह से बह इस तरह की गंभीर वीमारी की चपेट में आ जाता है।तो दोस्तों आज हम आपको यही बताने आये है की इंसान के अंदर होने बाले परिबर्तन से पता लगाया जा सकता है कि सायद उसके अंदर कैंसर जैसी कोई खतरनाक वीमारी तो नहीं पनप रही है। तो आइये जानते है की कौन से बह शुरुआती लक्षण होते है जिनसे कैंसर की बिमारी होने का संकेत मिल सकता है।
ये 3 लक्षण बताएंगे कि शरीर में कैंसर है या नहीं
1- फेफड़ों में कैंसर ( Lung cancer )
दोस्तों आम तौर पर देखा जाता है की अगर इंसान थोड़ा बहुत पैदल चलने लगे या फिर थोड़ा दौड़ लगा दे तो उसकी साँस उखड़ जाती है। और ज्यादा तर इंसान के सीने या फिर फेफड़ो के अंदर बहुत तेज दर्द होने लगता है। तो इस परिस्थिति मैं तुरंत डॉक्टर्स की सलाह ले लेनी चाहिए और अपने सरीर का अच्छी तरह से टेस्ट भी करा लेना चाहिए की कंही बह फेफड़ो में कैंसर के संकेत तो नहीं है।
दोस्तों इस तरह का कैंसर ,गुटखा ,बीड़ी या फिर किसी अन्य तरह का स्मोक करने से होता है। स्मोकिंग से उत्पन्न होने बाला लार हमारे फेफड़ो में जमा हो जाता है और फेफड़ो को पूरी तरह से जकड़ कर काला कर देता है। जिसकी बजह से इंसान के फेफड़े अच्छी तरह से अपना काम नहीं कर पाते है।और अंत मैं इंसान कैंसर का शिकार हो जाता है। तो दोस्तों बचाव यही है की खुद कभी भी स्मोकिंग नहीं करनी चाइये और न ही किसी को करने देना चाहिए। क्यूंकि जिंदगी बहुत खूबसूरत है मेरे दोस्त।
2- स्टमक में कैंसर ( Cancer in the stomach )
'डॉक्टर्स के परामर्श के अनुसार इस तरह के कैंसर के लक्षण की बजह से आपके स्टमक में दर्द होना या फिर लगातार दर्द का बना रहना होता है। किसी भी खाद्य पदार्थ का सही तरह से पाचन न हो पाने की बजह से ये सब दिक्क़ते आती है।
दोस्तों जब हम सब बाहर की तली हुई चीजे या दिर किसी गंदगी बाले खाने को लगातार खाते रहते है। और अब तो गर्मिया भी सुरु हो गई है। तो जो लोग गर्मियों में ठंडा पीना पसंद करते है उन्हें भी इस तरह की दिक्कत का सामना करना पड़ता है। इससे बचाव मैं इंसान को हमेशा हमेशा घर में बने हुए साफ़ खाने का ही सेवन ज्यादा तर करना चाहिए। या फिर अपने आहार में हमेशा हरी सब्जियों को शामिल करके इस तरह के रोग से खुद को बचाया जा सकता है।
3- मस्तिष्क में कैंसर ( brain Cancer )
इस तरह का कैंसर आम तौर पे देखा गया है। की सिर में हमेशा दर्द बना रहता है। कंही आते जाते इंसान बेहोश होने लगता है। या फिर उसकी यादास्त अचानक से कम होने लगती है।इंसान को अगर इन परेशानियों का जरा भी सामना करना पड़े तो तुरंत डॉक्टर्स से सलाह ले खुद से कभी भी सिर दर्द की दवा न ले बह खतरनाक हो सकता है।
दोस्तों इस तरह का कैंसर सिर पर बड़ी चोट लगने से होता है। या फिर ज्याद टेंशन लेने की बजह से सिर के अंदर मौजूद कौसिकाए अपना काम सही तरह से नहीं कर पाती है और फूलने लगती है जिसकी बजह से इंसान के सिर में हमेशा दर्द बना रहता है। और देखा जाय तो ज्यादातर इंसान इन दर्द को आम दर्द समझ कर भुला देते है। लेकिन यह खतरनाक हो सकता है। और हमेशा एक बात का ध्यान रखना चाहिए की सिर के दर्द होने पर किसी काबिल डॉक्टर्स की सलाह के बाद ही कोई दबाई लेनी चाइये।