Monday, 9 December 2019

Good Bye 2019: विद्या सिन्हा से लेकर विजू खोटे तक, इस साल इन बॉलीवुड स्टार्स ने दुनिया को कहा अलविदा

साल 2019 खत्म होने वाला है। ये साल बॉलीवुड इंडस्ट्री के लिए काफी अजीब रहा क्योंकि इस साल कई स्टार्स इस दुनिया को अलविदा कह गए। आपको बताते हैं ऐसे स्टार्स के बारे में जिनके निधन से पूरा बॉलीवुड सदमे में आ गया था।

बीते जमाने की मशहूर एक्ट्रेस विद्या सिन्हा का मुंबई, जुहू स्थित क्रिटीकेयर अस्पताल में 15 अगस्त गुरुवार को हो गया था। विद्या का निधन 15 अगस्त को दोपहर लगभग 12 बजे हो गया था। रिपोर्ट्स के मुताबिक विद्या को लंग्स और कार्डिएक डिस्ऑर्डर की समस्या थी। 1974 में फिल्म 'राजा काका' से बड़े पर्दे पर कदम रखने वाली विद्या 1974 में मशहूर कहानीकार मन्नू भंडारी की कहानी 'यही सच है' पर बनी फिल्म रजनीगंधा से चर्चा में आई थीं।
एक्टर और कथक गुरु वीरू कृष्णनन का निधन 7 सितंबर को हो गया था। बता दें कि वीरू कृष्णनन फिल्म ' राजा हिंदुस्तानी', 'इश्क' और 'अकेले हम अकेले तुम' में यादगार भूमिका में नजर आए थे। इसके अलावा वह कथक के गुरु भी रहे हैं।
बॉलीवुड के दिग्गज अभिनेता विजू खोटे का 78 वर्ष की आयु में 30 सितंबर को निधन हो गया था। उन्होंने मराठी फिल्मों के साथ-साथ अन्य भाषाओं में भी उल्लेखनीय काम किया था। विजू खोटे को फिल्म शोले में 'कालिया' के बेहद लोकप्रिय किरदार के लिए जाना जाता है। उन्होंने अपने डायलॉग, 'सरदार मैने तुम्हारा नमक खाया है' ने दर्शकों का बखूबी दिल जीता था। फिल्म शोले के बाद उन्होंने आमिर खान-सलमान खान की फिल्म 'अंदाज़ अपना अपना' में रॉबर्ट की भूमिका निभाई थी। विजू खोटे ने बॉलीवुड में अपनी पहचान बनाने के बाद मराठी फिल्म पंथ में निगेटिव रोल निभाकर यह साबित कर दिया था वह हर रोल में फिट हैं।
बॉलीवुड अभिनेत्री शबाना आज़मी की मां और उर्दू के मशहूर शायर कैफी आज़मी की पत्नी शौकत आज़मी का 22 नवंबर को निधन हो गया था। उनकी उम्र 90 साल थी। मशहूर शायर कैफी आजमी की पत्नी को लोग प्यार से शौकत आपा कहकर बुलाते थे। शौकत ने मुज्जफर अली की फिल्म 'उमराव जान', एमएस साथ्यु की 'गरम हवा' और सागर साथाडी की फिल्म 'बाजार' में यादगार भूमिकाएं निभाईं। शौकत आखिरी बार फिल्म 'साथिया' (2002) में नजर आईं थीं, जिसमें उन्होंने बुआ का रोल निभाया था।
शौकत कैफी ने पति के साथ मिलकर इंडियन पीपुल्स थिएटर एसोसिएशन (इप्टा), प्रोग्रसिव एसोसिएशन और भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी की कल्चरल विंग के लिए लम्बे अरसे तक काम किया। शौकत और कैफी की प्रेमकथा और उनके संस्मरणों की किताब 'कैफी और मैं' बहुत मशहूर है। बेटी शबाना ने अपने पति जावेद अख्तर के साथ मिलकर इसका थिएटरों में प्रभावी मंचन किया है।
तेलुगू फिल्म जगत के मशहूर कॉमेडियन वेणु माधव का निधन 25 सितंबर को हो गया था। वेणु लंबे समय से बीमार चल रहे थे। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, वेणु को लीवर और किडनी संबंधित तकलीफ थी।
मशहूर अभिनेता गिरीश कर्नाड ने 10 जून को इस दुनिया से अलविदा कह दिया था। गिरीश ज्ञानपीठ अवॉर्ड से सम्मानित थे। अभिनेता के अलावा गिरीश कर्नाड लेखक और निर्देशक भी थे। बता दें कि गिरीश कार्नाड का जन्म 19 मई, 1938 को माथेरान, महाराष्ट्र में हुआ था। वे भारत के जाने माने लेखक, अभिनेता, फ़िल्म निर्देशक और नाटककार थे। कन्नड़ और अंग्रेजी भाषा दोनों के ही जानकार थे। गिरीश कर्नाड को 1998 में ज्ञानपीठ सहित पद्मश्री व पद्मभूषण जैसे कई प्रतिष्ठित पुरस्कारों से नवाजा जा चुका है। कार्नाड द्वारा रचित तुगलक, हयवदन, तलेदंड, नागमंडल व ययाति जैसे नाटक काफी लोकप्रिय हुये और भारत की अनेकों भाषाओं में इनका अनुवाद व मंचन हुआ है।
बॉलीवुड एक्टर अजय देवगन के पिता और बॉलीवुड के जाने माने स्टंट निर्देशक वीरु देवगन का निधन 27 मई को हो गया था। बता दें कि वीरु देवगन ने कुछ फिल्मों में एक्टिंग और प्रोड्यूसर के तौर पर भी काम किया था। अपने करियर में करीब 3 दर्जन से ज्यादा फिल्मों में स्टंट और एक्शन कोरियोग्राफर के तौर पर काम किया था।
बॉलीवुड एक्टर विक्की कौशल (Vicky Kaushal) की फिल्म 'उरी: द सर्जिकल स्ट्राइक' में नवतेज हुंडल का रोल निभाने वाले नवतेज हुंडल (Navtej Hundal) का निधन 8 अप्रैल को हो गया था। नवतेज ने इससे पहले संजय दत्त की खलनायक, तेरे मेरे सपने और द विस्परर्स जैसी फिल्मों में काम किया था।
बॉलीवुड को कई फेमस फिल्म देने वाले फिल्म प्रोड्यूसर राजकुमार बड़जात्या का निधन 21 फरवरी को हो गया था। राजकुमार बड़जात्या, दिग्गज निर्देशक सूरज बड़जात्या के पिता थे। श्री बड़जात्या ने भारतीय सिनेमा की कई यादगार और कामयाब फिल्मों का निर्माण किया था। राजकुमार बड़जात्या ने हम आपके हैं कौन', 'हम साथ-साथ हैं' और 'विवाह' और प्रेम रतन धन पायो जैसे पारिवारिक ड्रामा फिल्मों में एक है।