Monday, 16 December 2019

पूरी हुई सचिन तेंडुलकर की तलाश, चेन्नै में ही मिले गुरूप्रसाद

नई दिल्ली. दुनिया के महान बल्लेबाज सचिन तेंडुलकर ने रविवार को अपने टि्वटर हैंडल पर एक वीडियो पोस्ट किया था, जिसमें उन्होंने बताया था कि कैसे चेन्नै में एक वेटर की अहम सलाह ने उनकी बैटिंग की मुश्किलों को आसान बना दिया. इसके बाद सचिन ने फैन्स से अपील की थी कि वे उस वेटर को ढूंढने में उनकी मदद करें. सोमवार को वह शख्स, जिसे सचिन शिद्दत से तलाश रहे थे सामने आ गया. सचिन को उनकी बैटिंग में सुधार के लिए अहम सलाह देने वाले यह शख्स गुरुप्रसाद हैं, जो चेन्नै के हैं. मास्टर ब्लास्टर जिन दिनों क्रिकेट खेलते थे तब वह एक टेस्ट मैच के लिए चेन्नै में थे.
सचिन को यहां के ताज कोरोमंडल होटल में मिला था और उसने तेंडुलकर को उनके एलबो गार्ड से जुड़ी अहम सलाह दी थी. सचिन ने उसकी सलाह पर अपना एल्बो गार्ड रिडिजाइन किया था और सचिन ने माना है कि गुरुप्रसाद की यह सलाह उनके बहुत का आई थी. उन यादों को याद करते हुए सचिन ने लिखा था, मैं नहीं जानता कि वह अभी कहां है और मैं उससे मिलना चाहता हूं. क्या आप लोग उस वेटर की तलाश में मेरी मदद कर सकते हैं? समाचार एजेंसी के मुताबिक गुरुप्रसाद को जब सचिन का यह संदेश मिला तो वह रोमांचित हो उठे.
सचिन के इस इन्विटेशन पर प्रतिक्रिया देते हुए गुरुप्रसाद ने कहा, फैन्स अक्सर महान लोगों से मिलने को बेताब रहते हैं, यहां महान मास्टर (क्रिकेटर) मुझसे मिलना चाहते हैं. यह बहुत रोमांचक है. गुरुप्रसाद ने बताया कि जिस जगह पर मैं रहता हूं, यहां के सभी लोग और मेरे दोस्त सभी बहुत उत्सुक हैं और वे सभी सचिन से मिलना चाहते हैं. मैं सचिन से प्रार्थना करता हूं कि वह मुझसे निजी तौर पर मिलें और मेरे परिवार के साथ कुछ वक्त बिताएं.
सचिन को एलबो गार्ड पर अहम सलाह देने वाले क्षण को याद करते हुए गुरुप्रसाद ने बताया कि तब मैं ताज होटल में सिक्योरिटी गार्ड के रूप में काम करता था, तभी उनकी मुलाकात क्रिकेट के इस दिग्गज से हुई थी और यहीं पर मैंने उन्हें एक सलाह दी थी. गुरुप्रसाद ने कहा, उस समय मैं वहां सिक्योरिटी गार्ड था. सचिन अपने कमरे से बाहर आ रहे थे. लिफ्ट के पास मैं उनसे मिला और मैंने उनसे ऑटोग्राफ भी लिया. इसके बाद मैंने उन्हें एक सलाह भी दी थी और यह मेरे दिमाग में महीनों से थी. सचिन अपने आर्म गार्ड की वजह से आउट हो रहे थे.
उन्होंने बताया, जब आप सचिन को नजदीक से देखें तो पता चलता है कि वह अपनी कलाई इस ढंग से इस्तेमाल करते हैं, जो उनके लिए बहुत महत्वपूर्ण है. जब आप तेज गेंदबाजों का सामना करते हैं, वे एक निश्चित पॉइंट पर अटैक करते हैं और जब आप अपना गार्ड ठीक से नहीं लेते हैं, टाइमिंग और बाकी सभी चीजें भी गलत हो जाती हैं. उन्होंने मुझसे पूछा था कि आपको यह बात कैसे पता चली और मैंने यही कहा कि मैं बस आपको टेलिविजन पर देखता हूं और मुझे लगता है कि गार्ड आपकी पूरी मूवमेंट को प्रभावित कर रहा है. सचिन ने भी अपने वीडियो में इस मुलाकात का जिक्र करते हुए यह बात बताई है. सचिन ने इस वीडियो को कैप्शन दिया था. अचानक हुई मुलाकात भी यादगार बन जाती है.