Wednesday, 1 July 2020

सावन में भगवान शिव की पूजा में भूलकर भी न चढ़ाएं ये चीजें, नहीं तो...


लाइफस्टाइल। भगवान शिव की उपासना का पावन सावन का महीना 6 जुलाई से शुरू होने मजा रहा है. इस महीने की शुरुआत सोमवार से होती है. श्रावण का महीना भगवान शिव को बेहद प्रिय है, इसलिए इस खास माह में भगवान शिव के भक्त उनकी उपासना करते हैं। इस बार सावन में कुल 5 सोमवार आएंगे। पहला सोमवार 6 जुलाई, दूसरा 13 जुलाई, तीसरा 20 जुलाई, चौथा 27 जुलाई और पांचवा 3 अगस्त को है। श्रावण मास के सोमवार बहुत ही सौभाग्यशाली एवं पुण्य फलदायी माने जाते हैं।

हिन्दू धर्म में सभी देवी-देवताओं को प्रसन्न करने, उनकी पूजा करने के विशेष अलग तरह के तरीके बताए गए हैं। इस पूजा में कुछ ऐसी सामग्रियां होती हैं जो भगवान को बहुत प्रिय होती है और इन सामग्रियों से भगवान प्रसन्न होकर मनवांछित फल प्रदान करते हैं तो वहीं कुछ ऐसी सामग्रियां भी होती हैं जिनका प्रयोग करने से विपरीत परिणाम मिल सकते हैं। सावन के महीने में सोमवार को भगवान शिव की पूजा करना हिंदू धर्म में अधिक महत्वपूर्ण माना जाता है। कहा जाता है कि सोमवार को भगवान शिव की पूजा करने से व्यक्ति की सभी परेशानियां दूर हो जाती हैं। आज हम आपको बताने जा रहे हैं कि सोमवार को भगवान शिव को क्या नहीं चढ़ाना चाहिए।
इन चीजों की पेशकश मत करो
* कहा जाता है कि शिव को सफेद फूल पसंद हैं, लेकिन भगवान शिव होने के बावजूद केतकी के फूल को पसंद नहीं करते।
* भगवान शिव की पूजा में शंख से जल अर्पित करने का विधान भी नहीं है, इसलिए इसे अकस्मात न करें।
* कहा जाता है कि भगवान शिव की पूजा में तुलसी का उपयोग नहीं करना चाहिए।
* कहा जाता है कि शिव पूजा में तिल का उपयोग निषिद्ध नहीं है।
* ध्यान रखें कि अगर आप शिव की पूजा में चावल चढ़ाते हैं, तो चावल को नहीं तोड़ना चाहिए।
* यह भी ध्यान दें कि हल्दी और कुमकुम को उत्पत्ति का प्रतीक माना जाता है, इसलिए उन्हें शिव को न चढ़ाएं।
* कहा जाता है कि कभी भी बासी या मुरझाए हुए फूल भगवान शिव को नहीं चढ़ाने चाहिए क्योंकि इससे शिव क्रोधित हो जाते हैं।
* शिव जी को नारियल का पानी कभी न चढ़ाएं, अन्यथा आपको नुकसान हो सकता है।
https://www.hindikhabar.in/