Wednesday, 3 June 2020

प्रियंका चोपड़ा, शाहरुख़, शिल्पा समेत ये बॉलीवुड स्टार्स भी हुए हैं नस्लभेद का शिकार, लंबी है लिस्ट


नई दिल्ली, जेएनएन। अमेरिका में जॉर्ज फ्लॉइड के साथ अमेरिकी पुलिस द्वारा हुई बर्बरता के बाद कई देशों में नस्लभेद और रंगभेद का मुद्दा फिर गरमा गया है। अमेरिका के कई शहरों में तो इसके खिलाफ प्रदर्शन भी ही रहे हैं। वहीं अब इस नस्लभेद मुद्दे का सुगबुगाहट भारत में भी सुनाई दे रही है।
कई भारतीय सेलेब्स ने जॉर्ज फ्लाइड की मौत को निंदनीय घटना बताया है। सेलेब्स के रिएक्शन के साथ ही इससे मुद्दे पर लोगों की राय दो फाड़ हो गई है। कुछ सेलेब्स को ट्रोल कर रहे हैं तो कुछ उनकी सराहना कर रहे हैं। वैसे, रंगभेद-नस्लभेद का बॉलीवुड से पुराना नाता रहा है। ऐसे कई सेलेब्स हैं जिन्हें समय-समय पर रंगभेद और नस्लभेद का शिकार होना पड़ा है। कभी किसी को रंग की वजह से तो कभी किसी को उनके नाम की वजह से परेशानी और ज़िल्लत उठानी पड़ी है। हम आपको बताते हैं उन सेलेब्स के नाम जो इसका शिकार हुए हैं।
शिल्पा शेट्टी : बॉलीवुड की जानी मानी एक्ट्रेस शिल्पा शेट्टी भी रंगभेद का शिकार हो चुकी हैं। शिल्पा ने यूके में एक रियलिटी शो Big Brother में भाग लिया था। इस दौरान उन्हें रंगभेद टिप्पणी का शिकार होना पड़ा था। शो की एक कंटेस्टेंट जेड गुडी ने शिल्पा पर रंगभेद टिप्पणी की थी। इस घटना का काफी विरोध भी हुआ था। हालंकि इस शो ने शिल्पा को अंतर्रायष्ट्रीय पहचान भी दिला दी थी। शिल्पा शो की विनर रही थीं।
प्रियंका चोपड़ा : प्रियंका चोपड़ा आज इंटरनेशनल स्टार बन चुकी हैं। लेकिन अमेरिका के ही स्कूल में उन्हें रंगभेद का शिकार होना पड़ा था। एक इंटरव्यू में प्रियंका ये खुलासा कर चुकी हैं कि अमेरिका में उन्हें स्कूल के दिनों में उनके सांवले रंग की वजह से लोग ब्राउनी कहकर चिढ़ाते थे। प्रियंका ने ये भी बताया था कि रंगभेद के चलते उन्हें एक हॉलीवुड फिल्म भी गंवानी पड़ी थी। आपको बता दें कि प्रियंका ने अमेरिका से ही पढ़ाई की है।
जॉन अब्राहम और बिपाशा बसु : जॉन अब्राहम, बिपाशा बसु और अरशद वारसी भी नस्लभेदी टिप्पणी का शिकार हो चुके हैं। ये बात फिल्म 'दे दना दन गोल' की शूटिंग के दौरान की है। एक इंटरव्यू में जॉन ने बताया था कि फिल्म की शूटिंग लंदन के एक ट्रैफिक सिग्नल पर हो रही थी। तभी उनके पास एक कार आकर रुकी जिसमें दो गोरे लड़के बैठे हुए थे। इन दोनों ने एक गाना शुरू कर दिया जिसमें वे भारत का मजाक बना रहे थे।
शाहरुख़ खान : अमेरिका के एयरपोर्ट पर शाहरुख खान की घंटे चेंकिंग किए जाने का मुद्दा खूब गरमाया था। शाहरुख खान को एक बार नहीं कई बार अमेरिका में नस्लीय भेदभाव का शिकार होना पड़ा है। पहली बार शाहरुख को साल 2009 में अमेरिका के एयरपोर्ट पर रोक लिया गया। एयरपोर्ट की सुरक्षा में तैनात पुलिसकर्मियों के कान 'शाहरुख' नाम सुनकर ही खड़े हो गए थे। शाहरुख को एयरपोर्ट पर लगभग 2 घंटे रोक कर रखा गया था। इसके बाद शाहरुख को साल 2012 में भी कुछ ऐसी ही परिस्थिति का सामना करना पड़ा जब वह नीता अंबानी के साथ न्यूयॉर्क एक यूनिवर्सिटी में लेक्चर देने पहुंचे थे।