Thursday, 25 June 2020

बिहार : तेज बारिश के साथ गिरी आकाशीय बिजली ने मचाया कोहराम, 83 लोगों की मौत



बिहार में गुरुवार को वज्रपात (आकाशीय बिजली) से अलग अलग जिलों में 83 लोगों की मौत हो गई। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने वज्रपात से राज्य में हुई 83 लोगों की मृत्यु पर दुख व्यक्त किया है। साथ ही, मृतकों के आश्रितों को तत्काल चार-चार लाख रुपए अनुग्रह अनुदान देने का निर्देश दिया है। उन्होंने कहा कि आपदा की इस घड़ी में वे प्रभावित परिवारों के साथ हैं। 
वज्रपात से गोपालगंज में 13, पूर्वी चंपारण में पांच, सीवान में छह, दरभंगा में पांच, बांका में पांच, भागलपुर में छह, खगड़िया में तीन, मधुबनी में आठ, पश्चिम चंपारण में दो, समस्तीपुर में एक, शिवहर में एक, किशनगंज में दो, सारण में एक, जहानाबाद में दो, सीतामढ़ी में एक, जमुई में दो, नवादा में आठ, पूर्णिया में दो, सुपौल में दो, औरंगाबाद में तीन, बक्सर में दो, मधेपुरा में एक और कैमूर में दो लोगों की मृत्यु हुई है। मुख्यमंत्री ने लोगों से अपील की है कि खराब मौसम में पूरी तरह सतर्क रहें। खराब मौसम होने पर वज्रपात से बचाव के लिए आपदा प्रबंधन विभाग समय-समय पर जारी किए गए सुझावों का पालन करें। खराब मौसम में घरों में रहें और सुरक्षित रहें।
मधुबनी में पति-पत्नी व पिता-पुत्र-बहू की गई जान
भारी बारिश के बीच वज्रपात ने मधुबनी जिले में दो परिवारों को उजाड़ दिया। यहां घोघरडीहा में खेत में काम कर रहे पति-पत्नी की मौत ठनका गिरने से हो गई। वहीं, फुलपरास में एक ही परिवार के पिता, पुत्र व बहू की दर्दनाक मौत हो गई।