Tuesday, 19 May 2020

श्मशान घाट से लौटने के बाद क्यों नहाते हैं लोग, जानिए इसके पीछे की सच्चाई,वैज्ञानिक वजह जानकर रह जाओगे दंग


मृत्यु हमारे जीवन का अटल सत्य है। जिस जीव ने इस धरती पर जन्म ले लिया है उसकी एक दिन मृत्यु जरूर होगी। मृत्यु को ना तो कोई रोक सकता है और ना ही कोई इसका समय बदल सकता है। हिंदू धर्म में किसी व्यक्ति की मृत्यु होने पर उसके शव की शव यात्रा निकालकर दाह संस्कार किया जाता है। और श्मशान में दाह संस्कार करने के बाद लोग जब घर आते हैं तो सबसे पहले नहाते हैं। और कपड़ों को धोते हैं। ऐसा क्यों किया जाता है ? आइए इसके बारे में जान लेते हैं। श्मशान घाट से लौटने के बाद क्यों नहाते हैं लोग ? सच्चाई जानकर हैरान रह जाओगे।
धार्मिक कारणों के अनुसार ऐसा इस वजह से किया जाता है कि श्मशान भूमि पर हमेशा नकारात्मक ऊर्जा का प्रवाह होता है। इसलिए नकारात्मक ऊर्जा के प्रभाव से बचने के लिए घर आते ही स्नान करना बहुत जरूरी हो जाता है। औरतें पुरुषों से ज्यादा भावुक हो जाती हैं। इसलिए उन्हें श्मशान घाट में नहीं जाने दिया जाता है। दाह संस्कार करने के बाद भी मृतक आत्मा का सूक्ष्म शरीर श्मशान घाट में मौजूद रहता है। और कुदरत के अनुसार कोई नुकसानदायक प्रभाव भी डाल सकता है।
श्मशान घाट से आते ही नहाने का वैज्ञानिक कारण यह है कि मौत के बाद शव में कई प्रकार के बैक्टीरिया फैल जाते हैं। और शव के संपर्क में आने से ये बैक्टीरिया व्यक्ति के शरीर में भी प्रवेश कर सकते हैं। और दाह संस्कार के समय वहां मौजूद लोगों के शरीर में भी बैक्टीरिया फैल सकते हैं। इसलिए दाह संस्कार करने के बाद नहाना बहुत जरूरी होता है।