Friday, 10 April 2020

भारत के साथ Lockdown करने वाले न्यूजीलैंड ने ऐसे पाया Coronavirus पर कंट्रोल, जानिए वजह


नई दिल्ली: पूरे देश में कोरोना वायरस का प्रकोप तेजी से बढ़ता जा रहा है. जिसके चलते भारत में 21 दिनों का लॉकडाउन है. भारत में कोरोना वायरस से पीड़ित मरीजों की संख्या में तेजी से इजाफा हो रहा है. देश में कोरोना के मरीजों की संख्या 6761 हो गई है. वहीं, इस संक्रमण की चपेट में आने से अब तक 206 लोगों की मौत हो चुकी है. जबकि 516 लोग ठीक हो गए हैं.

भारत में बढ़ते मरीजों की संख्या को देखते हुए लॉकडाउन अवधि को बढ़ाने पर विचार किया जा रहा है. हालांकि अभी तक इस बात पर कोई आधिकारिक फैसला नहीं लिया गया है. वहीं एक ऐसा भी देश है जिसने भारत के साथ ही लॉकडाउन की घोषणा की थी और हालात पर काफी हद तक काबू भी पा लिया है.
न्यूजीलैंड ने भारत के साथ ही लॉकडाउन की घोषणा की थी. लॉकडाउन के बाद से लेकर अबतक न्यूजीलैंड में हालात बेहतर होते दिख रहे हैं. न्यूजीलैंड में कोरोना वायरस से पीड़ित मरीजों की संख्या में गिरावट देखने को मिल रही है. जबकि भारत में पिछले कुछ वक्त में कोरोना से पीड़ित मरीजों की संख्या मे तेजी देखी गई है. दूसरी ओर न्यूजीलैंड में लगातार चौथे दिन कोरोना से पीड़ित मरीजों की संख्या घटी है. मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक गुरुवार के दिन न्यूजीलैंड में केवल 29 नए मामले सामने आए. जबकि भारत में यह आंकड़ा 590 के करीब था.

भारत और न्यूजीलैंड दोनों देशों में लॉकडाउन है. न्यूजीलैंड के कोरोना पर काबू पाने के पीछे बड़ी वजह उसकी जनसंख्या बताई जा रही है. न्यूजीलैंड की आबादी महज 50 लाख है. वहीं भारत की जनसंख्या करीब 130 करोड़ है. ये एक बड़ी वजह है जिस वजह से न्यूजीलैंड के हालात सुधरते दिख रहे हैं. न्यूजीलैंड में अब तक इस संक्रमण से केवल दो लोगों की मौत हुई है. वहीं न्यूजीलैंड में 1200 के करीब मामले सामने आ चुके हैं.

भारत में तब्लीगी जमात के लोगों के कोरोना पॉजिटिव निकलने से देश में कोरोना से पीड़ित मरीजों का ग्राफ बढ़ता जा रहा है. वहीं न्यूजीलैंड में ऐसा कोई मामला सामने नहीं आया है.