Thursday, 2 April 2020

इंदौर: डॉक्टरों पर हुए हमले पर मशहूर शायर राहत इंदौरी का बड़ा बयान, कहा- आज सिर शर्म से झुक गया













इंदौर. विश्वव्यापी महामारी कोरोना वायरस (COVID-19) के खिलाफ पूरा भारत जंग लड़ रहा है. इसी के चलते पूरे देश में 14 अप्रैल तक लॉकडाउन (Lockdown) है. बावजूद इसके हमारे डॉक्टर दिन-रात एक कर और अपनी जान की परवाह किये बिना मरीजों का इलाज कर रहे हैं. तो वहीं मध्य प्रदेश के इंदौर में कोरोना वायरस को लेकर जब डॉक्टरों की टीम जांच के लिए पहुंची तो उन पर हमला कर दिया गया. अब इस घटना पर मशहूर शायर डॉ. राहत इंदौरी का बयान आया है. उन्‍होंने कहा कि इस घटना के बाद सिर शर्म से झुक गया है.

ट्विटर पर वीडियो साझा करते हुए राहत इंदौरी ने इस मामले पर प्रतिक्रिया दी. उन्होंने कहा, 'हमारे शहर में जो वाकया पेश आया, उसकी वजह से सारे मुल्क के लोगों के सामने शर्मिंदगी से गर्दन झुक गई, शर्मसारी हुई. ये लोग आपकी तबीयत देखने आए थे, उनके साथ जो आपने सलूक किया इससे पूरा हिंदुस्तान हैरत में है'.

राहत इंदौरी ने कहा कि इंदौर की गिनती शानदार शहरों में होती है, लेकिन इस तरह का बर्ताव बिल्कुल गलत है. उन्होंने कहा कि अगर आज आप डॉक्टरों की मदद करेंगे, तो वक्त आपकी मदद करेगा.

वहीं, इंदौर के टाटपट्टी बाखल इलाके में बुधवार को डॉक्टर्स की टीम पर पथराव करने वाले 7 आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है. इनमें मुख्य आरोपी भी शामिल है. आरोपियों की पहचान वीडियो फुटेज के ज़रिए की गयी है. बाकी फरार आरोपियों की तलाश में टीमें लगा दी गयी हैं.

आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई
इंदौर में टाट पट्टी बाखल एरिया में बुधवार को मेडिकल की टीम पर हमले के मामले में पुलिस 50 लोगों की पहचान की कोशिश में जुटी है. इनमें से 6 लोगों की पहचान कर ली गयी है. DIG हरि नारायण चारी मिश्रा ने बताया कि आरोपियों की वीडियो फ़ुटेज के माध्यम से पहचान की गयी. उनमें से मुख्य दोषी सहित 7 लोगों को गिरफ्तार भी कर लिया गया है. इनके खिलाफ शासकीय कार्य में बाधा सहित इंडियन पैनल कोड की धारा 186 , 188 और 353 के तहत FIR दर्ज की गई है. मिश्रा ने बताया कि दस आरोपियों पर भी कार्रवाई की जा रही है.

वीडियो से पहचान
घटना के बाद से ही स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारियों के साथ समाज के हर वर्ग में खासा आक्रोश था. आरोपियों का हंगामा और पथराव करते हुए एक वीडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा था.पुलिस ने उसमें आरोपियों की पहचान कर करीब एक सैकड़ा अज्ञात आरोपियों के खिलाफ प्रकरण दर्ज कर उनकी तेजी से तलाश शुरू की. गुरुवार सुबह सात आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया.पुलिस वीडियो फुटेज के आधार पर अन्य आरोपियों की पहचान कर रही है.