Tuesday, 7 April 2020

चीन में लॉकडाउन हटने पर हज़ारों की भीड़ पर्यटक स्थलों पर उमड़ी, गहराया संक्रमण का खतरा


चीन (China) के वुहान (Wuhan) से निकले कोरोनावायरस (Coronavirus) के कहर से दुनिया में हाहाकार मचा हुआ है. थम चुकी दुनिया में लोग घरों के भीतर कैद हैं और जो संक्रमित हैं वो अस्पताल में ज़िंदगी और मौत के बीच झूल रहे हैं. लेकिन कोरोना के खौफ से उलट चीन से नई तस्वीर सामने आई है जिसमें हज़ारों की भीड़ वीकेंड पर टूरिस्ट प्लेस में छुट्टियों का लुत्फ उठाती दिखी.

चीन के तमाम शहरों की मशहूर टूरिस्ट लोकेशन पर हज़ारों लोगों की भीड़ वीकेंड पर टूट पड़ी. कोरोना महामारी को लेकर स्वास्थ्य विभाग की चेतावनियों को दरकिनार करते हुए हज़ारों लोग चीन के अलग-अलग हिस्सों में कोरोना से बेपरवाह पर्यटन की सैर करते दिखे. कुछ लोगों ने चेहरे को मास्क से ढका था तो कुछ ने उसकी ज़रूरत नहीं समझी.

माउन्टेन पार्क में 20 हज़ार की क्षमता से ज्यादा भीड़

शनिवार 4 अप्रैल को अनहुई प्रांत में हॉन्गशुआन माउन्टेन पार्क में हज़ारों पर्यटक इकट्ठा हुए. कई महीनों के कड़े लॉकडाउन और तमाम प्रतिबंधों के बाद आज़ाद हवा में बाहर की दुनिया का नज़ारा और लुत्फ लेने के लिए ड़ उमड़ पड़ी. ग्लोबल टाइम्स के मुताबिक सुबह 7 बजकर 48 मिनट पर ही पर्यटकों के सैलाब से पार्क खचाखच भर गया और अथॉरिटीज़ को पार्क की 20 हज़ार सैलानियों की कैपेसिटी के पूरी तरह भर जाने की वजह से नए विज़िटर्स के प्रवेश पर रोक के लिए नोटिस लगाना पड़ा.

राजधानी बीजिंग के मार्केट और पार्क में भारी भीड़

इसी तरह शंघाई में प्रसिद्ध झरने को देखने के लिए हज़ारों पर्यटकों की भीड़ जमा हो गई. पर्यटन के साथ होटल-रेस्टोरेंट में भी कई महीनों से खोई हुई रौनक वापस लौट गई. लोगों के पैर रखने की जगह तक नहीं बची. यही हाल चीन की राजधानी बीजिंग में भी दिखाई दिया जहां सार्वजनिक स्थलों पर लोगों की भीड़ अल्हड़ अंदाज़ में दिखी मानों चीन में कभी कुछ हुआ ही न हो जैसे.

3 महीने पहले वुहान से निकले वायरस ने पूरे चीन में सन्नाटा बिखेर दिया था. कोरोनावायरस के संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए चीन का चप्पा-चप्पा सहमा और थम गया था. लोग लॉकडाउन की वजह से घरों के भीतर कैद थे. लेकिन लॉकडाउन के बाद जहां चीन के हालात सुधरे तो वहीं अब दुनिया कोरोनावायरस की ज़द में छटपटा रही है. अब तक दुनिया में 10 लाख से ज्यादा लोग संक्रमित हो चुके हैं जबकि 70 हज़ार से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है.

चीन में कोरोना का खतरा अभी नहीं टला

भले ही चीन में घरों से बाहर निकलती भीड़ की ये तस्वीरें चीन में सामान्य होती ज़िंदगी की तरफ इशारा कर रही हैं लेकिन चीन में अभी कोरोनावायरस का खतरा नहीं टला है. चीन में कोरोनावायरस के अटैक की दूसरी लहर की आशंका तेज़ हो गई है. सोमवार को कोरोना संक्रमण के 39 नए मामलों ने चीनी सरकार की नींद उड़ा दी है. इन संक्रमित लोगों में 38 वो चीनी नागरिक हैं जो कि विदेश से वापस घर लौटे हैं.

चीन विदेश में फंसे चीनी नागरिकों को वापस लाने में जुटा हुआ है. ऐसे में उसके सामने बड़ी चुनौती बार से आए संक्रमित चीनी नागरिकों से घरेलु मोर्चे पर संक्रमण को फैलने से रोकना है. चीन में अब तक 82641 मामले सामने आ चुके हैं जबकि 3335 लोगों की मौत हो चुकी है.

स्वास्थ्य विभाग ने जताई चिंता

हॉन्गशुआन में उमडी भीड़ की तस्वीरों से सोशल मीडिया अटा पड़ा है. जिस पर चीन की कम्युनिस्ट पार्टी के आधिकारिक मीडिया पीपल्स डेली ने कड़ी प्रतिक्रिया दर्ज की है. पीपल्स डेली में छपे एक आर्टिकल में पर्यटकों को चेतावनी देते हुए भीड़ न लगाने के लिए कहा है. आर्टिकल में लिखा गया है कि ये समझा जा सकता है कि इतने महीनों के कड़े लॉकडाउन के बाद जनता बाहर निकलना चाहती है लेकिन फिलहाल ये समय सही नहीं है और सावधान रहने की जरूरत है.

फिलहाल चीन सरकार धीरे धीरे तमाम प्रतिबंधों में ढील दे रही है लेकिन साथ ही चीन के स्वास्थ्य अधिकारी जनता से सामान्य ऐहतियात बरतने की अपील कर रही है. चीनी प्रशासन का मानना है कि ग्लोबल होती महामारी की वजह से चीन में बीमारी का अंत नहीं हुआ है बल्कि चीन एक नई स्टेज में प्रवेश कर चुका है.

हालांकि संक्रमण के मामलों में गिरावट की वजह से चीन ने अपनी मैन्युफैक्चरिंग और सर्विस इंडस्ट्री को फिर से काम करने का निर्देश दे दिया है. क्योंकि लॉकडाउन की वजह से चीन की अर्थव्यवस्था से जुड़े प्रत्येक सेक्टर में भारी नुकसान हुआ है जिसके दूरगामी नतीजे भुगतने पड़ेंगे.