Saturday, 25 April 2020

घर के बाहर 'कृपया दरवाजा ना खोलें' लिखकर परिवार के चारों सदस्यों ने लगा ली फांसी

घर के बाहर 'कृपया दरवाजा ना खोलें' लिखकर परिवार के चारों सदस्यों ने लगा ली फांसी
नई दिल्ली। देशभर में बढ़ रहे कोरोना वायरस ( Coronavirus in india ) के संकट के चलते लगे लॉकडाउन ( Lockdown ) के बीच बड़ी खबर सामने आई है। देश के दक्षिण राज्य से आई इस दर्दनाक खबर ने हर किसी की चिंता बढ़ा दी है। दरअसल हैदराबाद ( Hydrabad ) के मीरपेट पुलिस स्टेशन इलाके में स्थित अलमासगुड़ा में एक ही परिवार के चार लोगों ने एक साथ आत्महत्या ( Suicide ) कर ली।
परिवार के सभी सदस्यों के इस तरह खुदकुशी के मामले ने इलाके में दहशत का माहौल है। आत्महत्या से पहले परिवार ने एक सुसाइड नोट भी लिखा है। इस नोट में उन्होंने लिखा है कि आर्थिक तंगी से परेशान होकर आत्महत्या कर रहे हैं।
WHO ने पूरी दुनिया को दी चेतावनी, ना करें गलती, लंबे समय तक साथ रहेगा कोरोना वायरस
पुलिस से मिली जानकारी के मुताबिक, अल्मासगुड़ा में स्थित एक अपार्टमेंट की एक मंजिल पर रह रहे हरीश के घर के दरवाजे पर एक नोट चिपका हुआ था, जिसमें लिखा हुआ था, कृपया दरवाजा मत खोलिए।
इस नोट को पढ़ने के बाद आस-पड़ोस के लोगों शक हुआ और उन्होंने इसकी सूचना पुलिस को दी। सूचना मिलते ही हमने कार्रवाई शुरू की।
दरवाजा तोड़कर मीरपेट पुलिस घर में घुसी तो सबकी आंखे खुली की खुली रह गईं। अंदर जाते ही पुलिस को चार लाशें पड़ी मिलीं। पुलिस ने बताया कि घर में चारों मृत पाए गए हैं।
मृतकों की पहचान तेलंगाना ( Telangana ) के विकाराबाद के निवासी स्वर्णा बाई (60), बेटी स्वप्ना (28), दो बेटे- हरीश (30) और गिरीश (25) के तौर पर हुई है।
लॉकडाउन को लेकर आंतरिक प्रवासियों के लिए विश्व बैंक ने किया चौंकाने वाला खुलासा
जांच में जुटी पुलिस
फिलहाल पुलिस मामले की और सुसाइड नोट की जांच कर रही है। पुलिस का मानना है कि आर्थिक तंगी की वजह से ही परिवार ने सामूहिक आत्महत्या की है।
उधार चुकाने में असमर्थ होने की भी संभावना जताई जा रही है। हालांकि, आत्महत्या के असली कारणों का पता लगना अभी बाकी है।