Saturday, 25 April 2020

सिगरेट को लेकर ऐसी छिड़ी बहस कि एक बुजुर्ग ने अपने रिश्तेदार को उतारा मौत के घाट

सिगरेट को लेकर ऐसी छिड़ी बहस कि एक बुजुर्ग ने अपने रिश्तेदार को उतारा मौत के घाट
नई दिल्ली। देश में जहां एक तरफ कोरोना वायरस के खिलाफ जंग जारी है, तो वहीं दूसरी तरफ महाराष्ट्र के पालघर में एक बुजुर्ग ने अपने रिश्तेदार को मौत के घाट उतार दिया। इस हत्या की वजह सिगरेट रही। दरअसल, पालघर के वसई में सिगरेट को लेकर हुई बहस जानलेवा साबित हो गई, जिसके बाद एक 64 वर्षीय शख्स को अपने रिश्तेदार की हत्या के जुर्म में गिरफ्तार किया गया है।
ईस्टर मनाने पहुंचे थे, मातम मन गया
मामले की जांच कर रहे एक अधिकारी ने बताया कि घटना मंगलवार देर रात एक बजे वसई के नायगांव से सामने आई। हत्या का आरोपी केन्नाथ रोजेरियो अपने रिश्तेदार के घर ईस्टर मनाने गया था। इसी दौरान सिगरेट को लेकर उनकी बहस हुई, और बात जान लेने तक पहुंच गई।
चाकू से हमले के बाद मौके पर ही मौत
पालघर के पुलिस प्रवक्ता हेमंत काटकर ने बताया कि पीड़ित दिनेश पाटिल के साथ आरोपी उनके एक रिश्तेदार के घर रविवार को ईस्टर मनाने पहुंचे थे। तब से वो वहीं रुके थे। मंगलवार देर रात, दोनों के बीच सिगरेट को लेकर कुछ बहस छिड़ी, तभी ताव में आकर आरोपी ने चाकू उठा लिया और पाटिल के ऊपर लगातार कई वार कर दिए। पुलिस के मुताबिक, पाटिल की मौके पर ही मौत हो गई। पुलिस ने आरोपी के खिलाफ हत्या समेत अन्य धाराओं में मामला दर्ज कर लिया है।
लॉकडाउन में कम हुए थे क्राइम के आंकड़े
आपको बता दें कि यह मामला उस वक्त सामने आया है जब कुछ दिन पहले दावा किया गया था कि लॉकडाउन के चलते महाराष्ट्र में आपराधिक मामलों में काफी कमी आई है। हालांकि ये दावा नेशनल क्राइम ब्यूरो के हवाले से नहीं, बल्कि खुद महाराष्ट्र पुलिस की ओर से किया गया था। महाराष्ट्र पुलिस ने कहा था कि कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए लगाए गए लॉकडाउन का असर आपराधिक घटनाओं पर भी दिख रहा है। राज्य में गंभीर और अति-गंभीर श्रेणी के क्राइम पर काफी हद तक लगाम लग गया है।