Thursday, 23 April 2020

आरोप : इंजमाम उल हक ने बताया टीम इंडिया के बल्लेबाजों को स्वार्थी


पाक (Pakistan) के पूर्व कैप्टन इंजमाम उल हक (Inzamam Ul Haq) ने भारतीय बल्लेबाजों पर बड़ा आरोप लगाया है। इंजमाम ने टीम इंडिया के बल्लेबाजों को स्वार्थी करार दिया है।
पाकिस्तानी बल्लेबाज ने रमीज राजा (Ramiz Raja) के साथ अपने यूट्यूब चैनल पर ये बात कही। उन्होंने बोला कि हमारे खेलने के दिनों में हिंदुस्तान का बल्लेबाजी क्रम कागजों पर बेहद मजबूत था, लेकिन पाक के बल्लेबाज हमेशा टीम के लिए खेलते थे व यही वजह थी कि हम हिंदुस्तान को हराने में सफल रहते थे।

दोनों टीमों के बीच यही एक अंतर था
इंजमाम (Inzamam Ul Haq) के अनुसार, जब हम भारतीय टीम के विरूद्ध खेलते थे तब हमारी तुलना में उनकी बल्लेबाजी कागजों पर बहुत ज्यादा मजबूत थी। मगर जहां हमारे बल्लेबाज 30-40 रन भी बनाते थे तो वो टीम के लिए उपयोगी होते थे। वहीं भारतीय बल्लेबाज अगर शतक भी लगाते थे तो वो अपने लिए खेलते हुए ऐसा करते थे। दोनों टीमों के प्रदर्शन में तब यही अंतर होता था।

इमरान खिलाड़ियों से सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन कराना जानते थे

रमीज राजा (Ramiz Raja) के साथ वार्ता में इंजमाम (Inzamam Ul Haq) ने 1992 दुनिया कप के बारे में भी बातें कीं। उन्होंनने कहा, इमरान खान तकनीकी रूप से अच्छे कैप्टन नहीं थे, लेकिन वो जानते थे कि खिलाड़ियों से उनका सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन कैसे निकलवाना है। इमरान युवा खिलाड़ियों पर भरोसा करते थे। वो उन खिलाड़ियों का समर्थन करते थे, जिन पर उन्हें विश्वास होता था। उनकी इसी खूबी ने इमरान को महान कैप्टन बनाया। अगर कोई खिलाड़ी एक सीरीज में नहीं चला तो वो उसे टीम से बाहर नहीं करते थे। यही वजह है कि टीम का हर खिलाड़ी उनका सम्मान करता था।

इंजमाम ने 37 गेंदों पर जड़ ​​दिए 60 रन
पाक (Pakistan) के दाएं हाथ के बल्लेबाज इंजमाम उल हक (Inzamam Ul Haq) ने बताया, मैं 1992 दुनिया कप में अपेक्षाओें के मुताबिक प्रदर्शन नहीं कर पा रहा था, लेकिन तब भी इमरान खान (Imran Khan) ने मुझमें भरोसा कायम रखा। इंजमाम ने भी इमरान के भरोसे पर खरा उतरते हुए न्यूजीलैंड के विरूद्ध 37 गेंदों पर 60 रनों की विस्फोटक पारी खेल डाली। उनकी इस पारी की बदौलत पाक की मैच में वापसी हो सकी। इसके बाद फाइनल में भी इंग्लैंड के विरूद्ध इंजमाम ने 35 गेंदों पर 42 रन की अहम पारी खेली।