Tuesday, 28 April 2020

मुंबई में हुआ था 'रामायण' में 'सीता' बनीं अभिनेत्री दीपिका का जन्म, जानिए 10 अनसुनी कहानियां


रामानंद सागर के निर्देशन में बने धारावाहिक 'रामायण' में सीता का किरदार निभाने वाली अभिनेत्री दीपिका चिखलिया को भारत के हर घर में माता सीता के रूप में ही पहचाना जाता है। यह सिर्फ इसलिए नहीं है क्योंकि सीता एक देवी हैं, बल्कि यह इसलिए है क्योंकि दीपिका ने देवी सीता के किरदार को पर्दे पर कुछ इस तरह निभाया कि लोग उन्हें ही माता समझने लगे। लोगों की नजर में दीपिका सिर्फ देवी सीता हैं जबकि उन्होंने अपने पूरे अभिनय करियर में अब तक भारत की लगभग सभी प्रमुख भाषाओं की फिल्मों में काम किया है। रामानंद सागर के धारावाहिक 'रामायण' के अलावा कई और टीवी शोज का भी दीपिका  हिस्सा रही हैं। माता सीता के किरदार को पर्दे पर जीवंत करने वाली अभिनेत्री दीपिका चिखलिया की आज हम आपको कुछ रोचक कहानियां बताते हैं।
Deepika Chikhalia


दीपिका का जन्म 29 अप्रैल 1965 को महाराष्ट्र की राजधानी मुंबई में हुआ था। दीपिका का रुझान शुरुआत से ही अभिनय की तरफ था। वह अपने स्कूल में भी हमेशा छोटे-मोटे नाटकों में भाग ले लिया करती थीं। एक इंटरव्यू में दीपिका ने खुद बताया कि उनके पिता जी का ट्रांसफर कोलकाता में हुआ जहां वह चार साल रहीं। एक पार्टी के दौरान बंगाली फिल्मों के जाने माने अभिनेता उत्तम कुमार ने जब उन्हें देखा तो उन्होंने अपनी फिल्म में दीपिका को बाल कलाकार के रूप में लेने की बात कही। हालांकि दीपिका बहुत छोटी थीं इसलिए उनके मम्मी पापा ने इसकी इजाजत नहीं दी। उनका मानना था कि इससे दीपिका की पढ़ाई लिखाई में बाधा आएगी।
दीपिका के फिल्मी करियर की शुरुआत बहुत अच्छी हुई थी। उन्हें पहली ही फिल्म राजश्री प्रोडक्शन की मिली। वर्ष 1983 में उन्हें सबसे पहले राज किरण के साथ फिल्म 'सुन मेरी लैला' में मुख्य अभिनेत्री के तौर पर देखा गया। दीपिका ने एक इंटरव्यू में बताया कि यह फिल्म इतने बड़े बैनर की थी, फिर भी इसको रिलीज होने के लिए बहुत वक्त लगा। हालांकि अंत में इस फिल्म को रिलीज की तारीख मिली और यह फिल्म काफी अच्छी चली।
राजश्री प्रोडक्शन ने दीपिका चिखलिया को शुरुआत तो अच्छी दिला दी। उसके बाद दीपिका का करियर बहुत अच्छा चल रहा था। जब राजश्री प्रोडक्शन ने दीपिका को अपने ही एक धारावाहिक 'पेइंग गेस्ट' के एक एपिसोड में काम करने के लिए पूछा तो दीपिका ने हां कर दिया। एक इंटरव्यू में उन्होंने बताया कि फिल्मों के बाद उस समय में टीवी करना बहुत बुरी बात थी। ऐसा समझा जाता था कि इस कलाकार के पास कोई काम नहीं है इसलिए अब टीवी में आ गया है। लेकिन राजश्री प्रोडक्शन का उनके ऊपर एक एहसान था इसलिए वह इस धारावाहिक के लिए मना नहीं कर पाईं।