Tuesday, 7 April 2020

निजामुद्दीन से आकर मुंबई के धारावी में रहने वाले 10 लोगों का पुलिस ने लगाया पता



मुंबई: कोरोना वायरस के मामले भारत में तेजी से बढ़ रहे हैं और इसका सबसे अधिक असर महाराष्ट्र में दिख रहा है. एशिया की सबसे बड़ी झुग्गी बस्ती क्षेत्र धारावी में एक कोरोना पॉजिटिव की जान जाने से सभी घबराए हुए हैं.

हालांकि अब इसी बीच मुंबई पुलिस ने कहा है कि जो 10 लोग धारावी में दिल्ली के निजामुद्दीन से आकर रहे थे उनकी पहचान कर ली गई है. धारावी में जिस व्यक्ति में सबसे पहले कोरोना संक्रमिण पाया गया था यह सभी उसी की फ्लैट में रुके थे. यह सब केरला से ही थे और यहां से निकल गए थे. जाने से पहले वह यहां के लोकल मस्जिद में भी 10 दिनों तक गए थे. बताया जा रहा है कि जिस व्यक्ति की धारावी में कोरोना के मौत हुई है वह भी इस ग्रुप से मिला था.
बता दें कि बुधवार को ही धारावी में कोरोना वायरस का पहला मामला दर्ज किया गया था, जहां 56 वर्षीय व्यक्ति की इस वायरस की वजह से मौत हो गई थी. यहां कोरोना का केस आने के बाद प्रशासन ने नौ हाउसिंग सोसाइटी को पूरी तरह से सील कर दिया था, जिसमें करीब 2000 लोग रहते हैं.

गौरतलब है कि धारावी जैसे घनी इलाके वाले क्षेत्र में कोरोना वायरस महामारी के लक्षण पाया जाना एक चिंता का विषय है.