Tuesday, 4 February 2020

ODI Series : पृथ्वी और मयंक करेंगे ओपनिंग, राहुल को मध्यक्रम की जिम्मेदारी

हैमिल्टन। भारतीय टीम 5 मैचों की टी-20 सीरीज में ऐतिहासिक कामयाबी हासिल करने के बाद सातवें आसमान पर है और उपकप्तान रोहित शर्मा के चोट के कारण शेष दौरे से बाहर हो जाने के बावजूद टीम इंडिया बुधवार से शुरु हो रही तीन मैचों की वनडे सीरीज में भी अपना विजय रथ दौड़ाने के इरादे से उतरेगी। पृथ्वी शॉ और मयंक अग्रवाल ओपनिंग करेंगे जबकि लोकेश राहुल को मध्यक्रम की जिम्मेदारी
रोहित चोट के कारण वनडे और टेस्ट सीरीज से बाहर हो चुके हैं और भारतीय कप्तान विराट कोहली ने साफ तौर पर संकेत दे दिया है कि हैमिल्टन में होने वाले पहले वनडे में पृथ्वी और अग्रवाल ओपनिंग की जिम्मेदारी संभालेंगे जबकि टी-20 सीरीज में 'मैन ऑफ द सीरीज' रहे ओपनर लोकेश राहुल को पांचवें नंबर पर उतारा जाएगा।
मयंक को चोटिल रोहित की जगह वनडे टीम में शामिल किया गया है और इस मैच से उन्हें अपना वनडे पदार्पण करने का मौका मिलेगा। पृथ्वी पहले ही चोटिल शिखर धवन की जगह वनडे टीम में शामिल कर लिए गए थे। यह लंबे समय बाद पहला मौका होगा जब रोहित और शिखर दोनों ही वनडे टीम में नहीं होंगे और एक नयी ओपनिंग जोड़ी भारत की तरफ से पारी की शुरुआत करेगी।
कप्तान विराट ने मैच से एक दिन पहले कहा, यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि रोहित इस सीरीज का हिस्सा नहीं होंगे। क्रिकेट के सभी प्रारुप में वह पहली पसंद होते है और टीम में और जिस तरह से वह प्रदर्शन करते हैं उसका प्रभाव देखने को मिलता है।
उन्होंने कहा, पृथ्वी टीम में हैं और वह रोहित की जगह टीम में शामिल हुए मयंक के साथ ओपनिंग कर सकते हैं। राहुल पांचवें नंबर पर खेलेंगे। हम चाहते हैं कि वह इस नंबर पर बल्लेबाजी करें और साथ ही विकेटकीपर की जिम्मेदारी भी संभालें।'
भारतीय सलामी जोड़ी को रोहित और शिखर की अनुपस्थिति में जिम्मेदारी संभालनी होगी और बड़ी साझेदारी करनी होगी जिससे न्यूजीलैंड पर शुरुआत से ही दवाब बढ़ाया जा सके। पृथ्वी और मयंक को बेहतर खेल का प्रदर्शन कर बड़ा स्कोर बनाना होगा जिससे मध्यक्रम पर दवाब नहीं बढ़े।
मध्यक्रम में विराट, श्रेयस अय्यर और लोकेश राहुल पर दारोमदार होगा जबकि गेंदबाजी की कमान फॉर्म में चल रहे तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह और मोहम्मद शमी संभालेंगे। विराट ने न्यूजीलैंड के खिलाफ हाल ही में समाप्त हुई टी-20 सीरीज में बेहतर प्रदर्शन किया था और इससे पहले ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ तीन मैचों की वनडे सीरीज में भी उनका प्रदर्शन उम्दा रहा था।
अय्यर भी फॉर्म में चल रहे हैं और राहुल ने न्यूजीलैंड के खिलाफ टी-20 सीरीज के पांचों मैच में बेहतरीन खेल का प्रदर्शन किया था और प्लेयर ऑफ द सीरीज चुने गए थे। बुमराह जहां एक ओर अपनी गेंदबाजी से मेहमान टीम पर कहर बरपा सकते हैं तो वहीं दूसरे छोर से शमी भी विपक्षी टीम के बल्लेबाजों को खासा परेशान करने का माद्दा रखते हैं।
भारत ने इससे पहले पिछले वर्ष न्यूजीलैंड के खिलाफ वनडे सीरीज 4-1 से जीती थी और अभी भी उसने टी-20 में कीवी टीम को 5-0 से रौंदा था जिससे टीम इंडिया का आत्मविश्वास मजबूत हुआ है। न्यूजीलैंड दौरे से पहले पिछले वर्ष के अंत में ऑस्ट्रेलिया के साथ हुई तीन मैचों की सीरीज भी भारत ने 2-1 से जीती थी।
पिछले नतीजों की दृष्टि से देखें तो इस मुकाबले में भारत जीत का प्रबल दावेदार है लेकिन न्यूजीलैंड को उसके घर में कम नहीं आंका जा सकता है। हालांकि न्यूजीलैंड के कप्तान केन विलियम्सन पहले दो वनडे से टीम से बाहर हैं और कीवी टीम को भारत के खिलाफ उनकी कमी बखूबी खलेगी।
विलियम्सन मध्यक्रम में न्यूजीलैंड के मजबूत खिलाड़ी हैं, जो पिच पर टिककर भारत के लिए राह कठिन जरुर कर सकते थे लेकिन अब उनकी अनुपस्थिति में कीवी बल्लेबाजों पर भारतीय चुनौती का सामना करने की जिम्मेदारी होगी।
विलियम्सन की जगह टॉम लाथम न्यूजीलैंड की कमान संभालेंगे और उनके नेतृत्व में टीम भारत से हाल में टी-20 में मिली करारी हार का बदला लेने उतरेगी। भारत और न्यूजीलैंड दोनों ही टीमें जीत से वनडे सीरीज की शुरुआत करना चाहेंगे।