Thursday, 6 February 2020

रोहित शर्मा के टेस्ट क्रिकेट भविष्य पर बोले मुख्य चयनकर्ता एमएसके प्रसाद, कही ये बड़ी बात

भारतीय टीम के सलामी बल्लेबाज रोहित शर्मा न्यूजीलैंड के खिलाफ अंतिम टी-20 मैच में चोटिल हो गए थे। रन लेने के लिए भागने के दौरान उनके काफ में परेशानी हुई थी। जिसके बाद फिजियो को मैदान पर आना पड़ा था। रोहित ने दर्द के बावजूद 3 गेंद खेले लेकिन असहनीय होने के बाद उन्होंने मैदान छोड़ने का फैसला किया। अब वह वनडे और टेस्ट सीरीज से बाहर हो गए हैं।
टेस्ट में भी सलामी बल्लेबाज बने
रोहित शर्मा 2013 में नियमत रुप से वनडे और टी-20 में भारत के सलामी बल्लेबाज बने थे। इसके बाद भी वह टेस्ट टीम से अंदर-बाहर होते रहे हैं। पिछले साल अगस्त में उन्हें टेस्ट मैचों में भी सलामी बल्लेबाजी करने का मौका मिला।
दक्षिण अफ्राकी के खिलाफ घरेलू टेस्ट सीरीज में उन्होंने पहली बार पारी की शुरुआत की थी। केएल राहुल के लगातार खराब फॉर्म की वजह से टीम से बाहर हुए और रोहित को पारी की शुरुआत करने का मौका मिला। अफ्रीका के खिलाफ उस सीरीज की 4 पारियों में रोहित शर्मा ने 2 शतक और एक दोहरे शतक की मदद से 529 रन बनाए थे।
एक सीरीज की जरूरत
भारतीय टीम पूर्व मुख्य चयनकर्ता एमएसके प्रसाद ने रोहित शर्मा के बारे में बात की है। उनका कहना है कि रोहित ने सलामी बल्लेबाज को रूप में टेस्ट में अच्छा किया है। वह विदेशी सीरीज पर अच्छा कर दें तो उनका माइंटसेट पूरी तरह बदल जाएगा। उन्होंने स्पोर्टस्टार सो कहा
'रोहित अब एक ऑल-फॉर्मेट खिलाड़ी हैं। उनका परिवर्तन शानदार है। हम उन दोहरे शतकों की वजह सफेद गेंद के क्रिकेट में उनकी अविश्वसनीय प्रतिभा को जानते हैं। एक टेस्ट ओपनर के रूप में पिछले चार से पांच महीनों में, उन्होंने अपनी कला दिखाई है। मैं चाहता हूं कि घर से बाहर एक अच्छी सीरीज हो। जिससे उसकी मानसिकता बदलनी चाहिए।'
भारतीय टीम के लिए बड़ा झटका
रोहित शर्मा का चोटिल होना भारतीय टीम के लिए बड़ा झटका है। शिखर धवन पहले ही चोट की वजह से टीम से बाहर चल रहे हैं। न्यूजीलैंड के खिलाफ पहले मैच में पृथ्वी शॉ के साथ मयंक अग्रवाल ने पारी की शुरुआत की।
दोनों बल्लेबाजों का भारत के लिए पहला वनडे मैच था। अच्छी शुरुआत के बाद दोनों पवेलियन लौट गए। दूसरी तरफ रोहित पिच पर सेट होने के बाद बड़ी पारी खेलते हैं। आने वाले मैचों में ये दोनों युवा बल्लेबाज रोहित जैसी पारी खेलने की कोशिश करेंगे।