Saturday, 22 February 2020

सोनभद्र की धरती ने उगला हजारों टन सोना बदलेगा भारत की किस्मत, इन देशों को पछाड़ देगा भारत


Copyright Holder: To the Point
To the Point : उत्तर प्रदेश के सोनभद्र की पहाड़ियों में एक बड़े सोने के भंडार का पता चला है। खनन विभाग के विशेषज्ञों के अनुसार इसकी कीमत करीब 12 लाख करोड रुपए है। खनन विभाग की मानें तो सोनभद्र में दो जगह पर सोने के भंडार हैं, जिसमें से एक जगह लगभग 647 किलो सोना है तो दूसरी जगह लगभग 3000 टन सोना है।

जीएसआई की मेहनत रंग लाई


Copyright Holder: To the Point
प्रशासन की रिपोर्ट में कहा गया है कि सोनभद्र के हरदी गांव की दो पहाड़ियों में सोने, यूरेनियम समेत कई धातुओं और अयस्कों का बड़ा भंडार है। सोनभद्र के जिला खनन अधिकारी केके राय ने बताया कि यहां पर पोटाश और आयरन का अयस्क भी मिला है। जियोलॉजिकल सर्वे ऑफ इंडिया की टीम भी पिछले 15 साल से इस सोने को ढूंढने का काम कर रही है। 8 साल पहले जीएसआई की टीम ने पहाड़ियों पर अकूत सोना होने की पुष्टि की थी।

भारत हो सकता है उत्पादन में दूसरे स्थान पर


Copyright Holder: To the Point
आपको बता दें कि सोने के भंडार के मामले में पहले नम्बर पर अमेरिका है जिसके पास 8,133.5 टन सोने का रिजर्व है तो वही जर्मनी के पास 3,366 टन स्वर्ण भंडार है। तीसरे नम्बर पर अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा फंड के पास 2,814 टन सोना रिजर्व रखा है। इसके बाद इटली, फ्रांस, और रूस का नम्बर आता है। सोनभद्र में सोने का भंडार मिलने के बाद भारत स्वर्ण उत्पादन में दूसरे नंबर पर आ सकता है, जो कि अभी तीसरे स्थान पर है।

यूपी सरकार की तैयारी

उत्तर प्रदेश सरकार में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सोने के विशाल भंडार को देखते हुए सोने को बेचने के लिए ई नीलामी प्रक्रिया शुरू करने का फैसला लिया है। ईएसआई यहां साल 2005 से सोने की तलाश कर रही थी। काफी अध्ययन के बाद टीम ने सोनभद्र जिले में सोने के भंडार का पता लगाया था। ई टेंडरिंग के जरिए ब्लॉकों की नीलामी के लिए 7 सदस्यों की समिति का गठन किया गया है।
क्या सरकार को इस सोने के भंडार की नीलामी करनी चाहिए या खुद खदानों का संचालन करना चाहिए? अपनी राय कमेंट करके हमें जरूर बताइए और न्यूज़ लाइक व शेयर कीजिए।
(न्यूज़ सोर्स- aajtk.in)