Loading...

हैदराबाद गैंगरेप: एक ही जेल की अलग-अलग बैरक में बंद किए गए हैवान

Loading...
  • हैदराबाद गैंगरेप: एक ही जेल की अलग-अलग बैरक में बंद किए गए हैवान
    हैदराबाद में महिला डॉक्टर से हैवानियत के खिलाफ देशभर में प्रदर्शन हो रहे हैं. सड़कों पर उतरकर लोग महिला सुरक्षा पर सवाल कर रहे हैं. पुलिस की जांच में कई खुलासे हुए हैं और आरोपियों का वीडियो और पूरी कुंडली सामने आ गई है. उधर आरोपियों को हैदराबाद की केरलाकुल्ली जेल में बंद किया गया है.
  • दरअसल, हैदराबाद में जब पुलिस आरोपियों को लेकर थाने पहुंची तो उसकी भनक लोगों को लग गई. इसके बाद कुछ ही देर में सैकड़ों लोगों ने थाना घेर लिया. इसके बाद पुलिस ने उस थाने की सुरक्षा बढ़ा दी. और बाद में उन्हें हैदराबाद की जेल में ले जाया गया.
  • चारों आरोपियों को केरलाकुल्ली सेंट्रल जेल के अलग-अलग बैरक में रखा गया है. बताया जा रहा है कि उन्हें अलग इसलिए रखा गया है ताकि वे एक दूसरे को नुकसान ना पहुंचा सकें. और वे कोई ऐसा कदम ना उठाएं जिससे जांच प्रभावित हो.
  • इसके अलावा, चारों की अलग-अलग बैरकों में सुरक्षा व्यवस्था बढ़ा दी गई है. जेल में पुलिस बलों की संख्या भी बढ़ा दी गई है. चारों को समय-समय पर देखा जा रहा है.
  • इससे पहले पुलिस ने वारदात की जांच में कई खुलासे किए हैं. इस खुलासे के बाद आरोपियों का वीडियो और पूरी कुंडली सामने आ गई है. चारों आरोपी बचपन के दोस्त हैं. आरोपी मोहम्मद आरिफ ट्रक ड्राइवर है, बाकी तीनों क्लीनर हैं.
  • पुलिस के मुताबिक 27 नवंबर की रात को महिला डॉक्टर को ट्रक ड्राइवर और उसके साथियों ने अगवा किया. आरोपी पीड़िता को सुनसान जगह पर ले गए और उसे जबरन शराब पिलाई और गैंगरेप की वारदात को अंजाम दिया.

    एक आरोपी ने मुंह और नाक दबाकर पीड़िता की जान ली. इसके बाद वहां से 27 किलोमीटर दूर ले जाकर पेट्रोल डालकर उसका शव जला दिया. शव के पास ही पीड़िता का फोन, घड़ी सब छिपा दिया.
  • आरोपी नंबर-1
    नाम- आरिफ
    उम्र- 26 साल
    पढ़ाई- दसवीं पास
  • आरोपी नंबर-2
    नाम-शिवा
    उम्र-20 साल
  • आरोपी नंबर-3
    नाम-नवीन कुमार
    उम्र-20 साल
    नवीन और शिवा की आपस में रिश्तेदारी है.
  • आरोपी नंबर-4
    नाम-चेन्ना केशवल्लु
    उम्र-21 साल
    परिवार खेती से गुजारा करता है.
    साल भरे पहले ही इसकी शादी हुई है.
  • पुलिस के मुताबिक शिवा ही सबके लिए शराब लाया था. आरिफ ने पीड़िता से पहले जबरदस्ती की. आरिफ, नवीन, शिवा तीनों मिलकर पीड़िता को उठाकर सुनसान जगह ले गए. आरिफ ने ही मुंह दबाकर हत्या की. उसी ने पेट्रोल छिड़का और शिवा ने आग लगाई.
  • केस की जांच के दौरान जो खुलासे हुए हैं, उससे यही लग रहा है कि शराब के नशे में धुत्त आरोपियों ने खौफनाक वारदात को ऐसे अंजाम दिया मानो कुछ हुआ ही ना हो. सब पीड़िता को मौत के हवाले कर आराम से घर चले गए. पुलिस को पीड़िता का शव शमशाबाद के बाहरी इलाके में मिला.
  • पुलिस की रिमांड कॉपी के अनुसार 27 नवंबर की रात 10 बजे से सुबह 4 बजे तक पूरी वारदात को अंजाम दिया गया. पुलिस की गिरफ्त में आए चारों आरोपियों को 14 दिन की रिमांड पर भेज दिया गया है. मामले की सुनवाई फास्ट ट्रैक कोर्ट में चलेगी.
  • डॉक्टर के साथ सामूहिक दुष्कर्म और फिर हत्या के बाद शव जलाने की वीभत्स घटना से पूरे देश में गुस्सा है. लोग आरोपियों को सरे आम फांसी देने की मांग कर रहे हैं.
  • हैदराबाद गैंगरेप: एक ही जेल की अलग-अलग बैरक में बंद किए गए हैवान हैदराबाद गैंगरेप: एक ही जेल की अलग-अलग बैरक में बंद किए गए हैवान Reviewed by Admin on December 03, 2019 Rating: 5
    Loading...
    Loading...
    Powered by Blogger.