Thursday, 12 December 2019

भारत को डे-नाइट टेस्ट खेलने के लिए मनाना आसान : क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया

मेलबर्न, प्रेट्र। क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया के मुख्य कार्यकारी केविन रॉब‌र्ट्स का मानना है कि विराट कोहली की टीम का अगर विश्व टेस्ट चैंपियनशिप फाइनल में पहुंचना तय है तो उसे ऑस्ट्रेलिया दौरे पर गुलाबी गेंद से टेस्ट खेलने के लिए मनाना आसान होगा।
भारतीय टीम ने पिछली बार ऑस्ट्रेलिया दौरे पर डे-नाइट टेस्ट खेलने से इन्कार कर दिया था लेकिन पिछले महीने बीसीसीआइ अध्यक्ष सौरव गांगुली की पहल पर बांग्लादेश के खिलाफ भारत ने गुलाबी गेंद से पहला टेस्ट खेला। रॉब‌र्ट्स ने कहा कि मेरा मानना है कि भारत के खिलाफ अगले साल हम गुलाबी गेंद से एक टेस्ट खेलेंगे। उन्होंने कहा कि भारत विश्व टेस्ट चैंपियनशिप में बेहतरीन प्रदर्शन कर रहा है और उसका 2021 में विश्व टेस्ट चैंपियनशिप का फाइनल खेलना तय लग रहा है।
उन्होंने कहा कि इसी वजह से अगले सत्र में डे-नाइट टेस्ट के लिए उन्हें मनाना आसान होगा। भारत का अगर टेस्ट चैंपियनशिप फाइनल में खेलना तय है तो डे-नाइट का टेस्ट खेलने से इन्कार का कोई कारण नहीं दिखता। भारतीय टीम चैंपियनशिप में सात टेस्ट में 360 अंक लेकर शीर्ष पर है और उसका फाइनल खेलना तय लग रहा है। भारत में डे-नाइट टेस्ट आयोजित करने का आइडिया गांगुली का था और रॉब‌र्ट्स ने कहा कि इससे लगता है कि भारत ने डे-नाइट टेस्ट खेलने की शुरुआत कर दी है।
उन्होंने कहा कि जबसे गांगुली बीसीसीआइ अध्यक्ष बने हैं। वह भारत में डे-नाइट टेस्ट आयोजित कराने के लिए काफी उत्सुक दिखे और हमने देखा कि तीनों दिन के टिकट पूरी तरह से बिक गए थे। जो पिछली सीरीज की टिकट बिक्री से कई ज्यादा थे। भारत ने डे-नाइट टेस्ट खेलने के लिए दरवाजे खोल दिए हैं और वह जानते हैं कि यह क्रिकेट के लिए अच्छा है।
भारत ने अपने पिछले ऑस्ट्रेलिया दौरे की शुरुआत एडिलेड से की थी जबकि ऑस्ट्रेलिया सीरीज का पहला टेस्ट हमेशा गाबा (ब्रिसबेन) में खेलना चाहते हैं, जहां वह 1988 से हारे नहीं है। रॉब‌र्ट्स ने इस पर कहा कि भारत को गाबा में खेलने में ज्यादा दिक्कत नहीं होनी चाहिए। मुझे नहीं लगता कि भारत सीरीज की शुरुआत गाबा में करने के खिलाफ होगा। ऑस्ट्रेलिया भारत के खिलाफ दो डे-नाइट टेस्ट आयोजित करने पर विचार कर रहा है और इस पर गांगुली ने कहा था कि यह कुछ ज्यादा हो जाएगा। हालांकि भारतीय कप्तान विराट कोहली कह चुके हैं कि वह कुछ भी करने के लिए तैयार हैं, लेकिन उन्हें डे-नाइट टेस्ट से पहले एक अभ्यास मैच की जरूरत है।