Tuesday, 17 December 2019

कभी आधा घंटा भी खड़ी नहीं रह पाती थी सलमान की ये एक्ट्रेस, बीमारी के कारण नहीं मिली थी फिल्में

मुंबई. बॉलीवुड के बाद साउथ फिल्मों की ओर रूख करने वाली एक्ट्रेस स्नेहा उल्लाल 32 साल की हो गई हैं। स्नेहा का जन्म 18 दिसंबर, 1987 को मस्कट, ओमान में हुआ था। स्नेहा ने 2005 में आई फिल्म लकी से बॉलीवुड में सलमान खान के साथ डेब्यू किया था। वैसे आपको बता दें कि स्नेहा करीब 3 साल तक एक गंभीर बीमारी से जूझती रही थीं। कुछ साल एक पॉपुलर वेबसाइट को दिए इंटरव्यू में स्नेहा ने बताया था कि वो ऑटोइम्यून डिसऑर्डर से पीड़ित थीं, जो ब्लड रिलेटेड बीमारी है। इसकी वजह से वो बेहद कमजोर हो गई थीं और आधे घंटे से ज्यादा अपने पैरों पर खड़ी तक नहीं रह पाती थीं। यही वजह थी कि वो लंबे समय तक फिल्मों में नजर नहीं आईं। हालांकि अब स्नेहा पूरी तरह ठीक हैं। वे आखिरी बार 2015 में आई फिल्म बेजुबान इश्क में नजर आईं थी।
फिलहाल स्नेहा के पास किसी भी फिल्म का ऑफर नहीं है। स्नेहा के मुताबिक, मेरी लाइफ में एक वक्त ऐसा भी था, जब मैं इतनी कमजोर हो गई थी कि एक एक्ट्रेस के तौर पर खरी नहीं उतर पा रही थी। यहां तक कि मुझे चलने, डांस करने और लगातार शूटिंग करने में भी काफी तकलीफ होती थी। इसके बाद मैंने फैसला किया कि मुझे काम से ब्रेक लेकर अपनी बीमारी का इलाज कराना चाहिए, क्योंकि मैं हर दूसरे दिन बीमार पड़ रही थी।
स्नेहा, सलमान खान की एक्स-गर्लफ्रेंड ऐश्वर्या राय की हमशक्ल हैं। कहा जाता है कि उनकी इसी खूबी के चलते सलमान उन्हें फिल्मों में लाए थे। यही नहीं फिल्मों से दूर रहने पर स्नेहा ने अपने एक इंटरव्यू में ये भी कहा था कि वो सलमान के पास काम मांगने नहीं जाएंगी।
पिछले साल स्नेहा ने एक इंटरव्यू में बताया था कि 'लकी' फिल्म को लेकर जब मैं सलमान खान से मिलने पहली बार उनके घर पहुंची तो उनके डॉग्स मुझे देखकर भोंकने लगे। मैं भी थोड़ी घबराई। सलमान के डॉग्स को लगा कि शायद ऐश्वर्या आई हैं। सलमान ने डॉग्स को कुछ कहा और उन्होंने भोंकना बंद कर दिया। सबको ऐसा लगता है कि मैं ऐश्वर्या जैसी दिखती हूं।
स्नेहा फिल्म 'लकी' से ही चर्चा में आईं। स्नेहा के मुताबिक, जब यह फिल्म आई थी तब मैं काफी छोटी (18 साल) थी। मेरी पढ़ाई भी फिल्म के कारण बीच में छूट गई थी। फिल्म की शूटिंग पूरी होते ही मैंने अपनी पढ़ाई पूरी की। इसके बाद साउथ में बिजी हो गई। वहां काम ज्यादा था। उनकी प्राइमरी एजुकेशन इंडियन स्कूल, मस्कट और इंडियन स्कूल, सालाह (ओमान) से हुई। बाद में वे मां के साथ मुंबई आ गईं और डुरेलो कॉन्वेंट हाई स्कूल में एडमिशन ले लिया। वे वर्तक कॉलेज, मानिकपुर, महाराष्ट्र की स्टूडेंट भी रही हैं।
स्नेहा ने 'लकी…' के बाद 'आर्यन' (2006), 'जाने भी दो यारों' (2007), 'काश मेरे होते' (2009), 'क्लिक' (2009) और 'बेजुबान इश्क' जैसी बॉलीवुड फिल्मों में काम किया। 2008 में तेलुगु फिल्म 'Ullasamga Utsahamga' से स्नेहा ने साउथ इंडस्ट्री में कदम रखा। फिल्म में उनकी एक्टिंग की काफी तारीफ हुई। इसके बाद 'किंग', 'Varudu', 'Simha' और 'Action 3D' जैसी कई फिल्मों में वे नजर आईं।