Friday, 6 December 2019

हैदराबाद एनकाउंटर पर बोलीं वरिष्ठ कांग्रेस नेता, कानूनी प्रक्रिया के तहत मिलती सजा तो बेहतर होता

नई दिल्ली। हैदराबाद में महिला डॉक्टर के साथ गैंगरेप के बाद बर्बर हत्या के आरोपियों को आज पुलिस ने एनकाउंटर में ढेर कर दिया है। पुलिस की इस कार्रवाई के बाद लोग जमकर पुलिस की तारीफ कर रहे हैं और उनपर फूल बरसा रहे हैं। लेकिन इन सब के बीच कई लोग पुलिस की कार्रवाई पर सवाल भी खड़े कर रहे हैं। कांग्रेस की वरिष्ठ नेता कुमारी शैलजा ने पुलिस के इस तरीके पर सवाल खड़ा किया है। उन्होंने कहा कि बेहतर होता अगर आरोपियों को कानून के तहत सजा दी जाती।

कानूनी प्रक्रिया के तहत मिलती सजा तो बेहतर होता

कुमारी शैलजा ने कहा कि हैदराबाद गैंगरेप के आरोपियों को अगर कानूनी प्रक्रिया के तहत सजा मिलती तो ज्यादा बेहतर होता। हालांकि उन्होंने कहा कि ऐसे दोषियों का यही अंजाम होना चाहिए था, लेकिन अगर कानूनी प्रक्रिया के तहत उन्हें सजा मिलती तो लोगों के बीच बेहतर संदेश जाता। वहीं एक अन्य कांग्रेस नेता शर्मिष्ठा मुखर्जी ने पुलिस द्वारा किए गए एनकाउंटर पर सवाल खड़ा किया है।

शर्मिष्ठा मुखर्जी ने भी खड़ा किया सवाल

शर्मिष्ठा मुखर्जी ने कहा कि आखिर ऐसी कौन सी नौबत आ गई थी कि कानून के रखवालों को ही कानून को हाथ में लेना पड़ गया। हालांकि शर्मिष्ठा मुखर्जी ने कहा कि हो सकता है कि आरोपियों ने भागने की कोशिश की हो लेकिन ऐसी कौन सी परिस्थिति आई गई थी कि चारों ही आरोपियों को एक साथ एनकाउंटर में मार दिया गया। शर्मिष्ठा मुखर्जी ने मांग की है कि इस एनकाउंटर की जांच होनी चाहिए।

फास्ट ट्रैक कोर्ट का हुआ था गठन

बता दें कि चारो ही आरोपी 10 दिन की पुलिस रिमांड पर थे। इस मामले की सुनवाई के लिए 4 दिसंबर को फास्ट ट्रैक कोर्ट का भी गठन किया गया था। पुलिस ने इन सभी चार आरोपियों को महिला डॉक्टर के साथ गैंगरेप के बाद उसकी हत्या के आरोप में गिरफ्तार किया था। दरअसल 27 नवंबर को जब महिला डॉक्टर हाइवे एनएच 44 पर रात को अस्पताल से लौट रही थी तो उसकी गाड़ी पंक्चर हो गई थी, इसी दौरान इन आरोपियों ने महिला डॉक्टर के साथ गैंगरेप किया और उसे जिंदा जला दिया था।
इसे भी पढ़ें- हैदराबाद गैंगरेप: एनकाउंटर के बाद साइना नेहवाल ने पुलिस को किया सैल्यूट