Thursday, 12 December 2019

खेल पर भारी पड़ी राजनीति, नागरिकता संशोधन बिल को लेकर कर्फ्यू और विरोध प्रदर्शन, मैच रद्द

स्पोर्ट्स डेस्क, अमर उजाला
नागरिकता संशोधन बिल संसद में पास हो गया। राज्यसभा और लोकसभा की बहस हिन्दू बनाम मुसलमान को लेकर होती रही लेकिन इस बिल को लेकर असम और त्रिपुरा समेत कई जगह पर काफी प्रदर्शन हो रहा है। वहां 24 घंटे के लिए इंटरनेट और मोबाइल फोन बंद कर दिया गया है। गुवाहाटी में कर्फ्यू लगा दी गई है। इसी की चपेट में रणजी ट्रॉफी के कुछ मैच भी आ गए हैं, जो बीसीसीआइ ने रद कर दिए हैं। रणजी के अलावा इंडियन सुपर लीग के मैच भी स्थगित कर दिया गया है। बता दें कि नॉर्थईस्ट यूनाइटेड एफसी और चेन्नईयिन एफसी के बीच यह मुकाबला गुवाहाटी के इंदिरा गांधी ऐथलेटिक्स स्टेडियम में होने वाला था जिसे रद्द कर दिया गया।
भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआइ) ने गुरुवार को इस बात की जानकारी दी है कि असम और त्रिपुरा में होने वाले रणजी ट्रॉफी के मैच प्रदर्शन और कर्फ्यू के कारण रद कर दिए गए हैं। इन दोनों राज्यों में नागरिकता संशोधन बिल के पास होने के बाद से प्रदर्शनकारी सड़कों पर उतर आए हैं। ऐसे में सुरक्षा की दृष्टि से असम और त्रिपुरा में होने वाले मैचों को रद्द कर दिया गया है।

मौजूदा समय में गुवाहटी के बार्सपारा क्रिकेट स्टेडियम में असम और सर्विसेज टीम के बीच रणजी ट्रॉफी का मैच खेला जा रहा है, जिसका आज आखिरी दिन है। उधर, असम की राजधानी अगरतला के महाराजा बीर बिक्रम कॉलेज स्टेडियम में त्रिपुरा और झारखंड की टीम के बीच मैच खेला जा रहा है। हालांकि, चौथे दिन ये दोनों ही मुकाबले शुरू नहीं हो सके हैं। माना जा रहा है ये मुकाबले रद हो सकते हैं।
बीसीसीआई के जेनेरल मैनेजर (क्रिकेट ऑपरेशंस) सबा करीम ने पीटीआई को यह संकेत देते हुए बताया कि अगर मैच दोबारा नहीं होगा तो खेल को ड्रॉ माना जाएगा। करीम ने कहा, 'हमें राज्य संघ द्वारा खेल के साथ आगे नहीं बढ़ने की सलाह दी गई है। खिलाड़ियों और मैच अधिकारियों को होटल में रहने की सलाह दी गई है। इस स्तर पर, खिलाड़ियों और मैच अधिकारियों की सुरक्षा सर्वोपरि है।'

आईएसएल ने गुरुवार को जारी एक बयान में कहा, 'गुवाहाटी में मौजूदा हालात के कारण, नॉर्थईस्ट यूनाइटेड एफसी और चेन्नै टीम के बीच मैच को अगले नोटिस तक स्थगित कर दिया गया है। पिछले 48 घंटों से संबंधित अधिकारियों के साथ विमर्श किया जिसके बाद फैंस, खिलाड़ियों और लीग कर्मियों की सुरक्षा को सर्वोपरि रखते हुए यह फैसला लिया गया।' मैच के बारे में और जानकारी जल्दी ही दी जाएगी। बुधवार को दोनों टीमों ने ट्रेनिंग भी नहीं की थी और प्री-मैच प्रेस कॉन्फ्रेंस को भी आयोजित नहीं किया गया।