Monday, 30 December 2019

बड़ा खुलासा: 'बोर्ड के बुलावे पर पा‌किस्तान आता था सट्टेबाज, पूरी टीम और अधिकारी से थी अच्छी पहचान'


कराची. पूर्व स्पिनर दानिश कनेरिया (Danish Kaneria) ने दावा किया कि 2012 में इंग्लिश काउंटी क्रिकेट में स्पॉट फिक्सिंग में शामिल सट्टेबाज पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (PCB) के आमंत्रण पर लगातार पाकिस्तान का दौरा करता था और राष्ट्रीय टीम के खिलाड़ी उसे जानते थे. कनेरिया 2012 में काउंटी क्रिकेट खेलते हुए स्पॉट फिक्सिंग में दोषी पाए गए थे. उन्होंने आरोप लगाया कि यह सट्टेबाज पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड के अधिकारियों को जानता था. कनेरिया ने अपने यूट्यूब चैनल पर कहा कि मुझे हमेशा गलत तरह से पेश किया गया. मैं आज आपको वास्तविकता बता रहा हूं. मेरे मामले में जिन लोगों ने मेरा उससे परिचय कराया, वे कौन थे. मेरा मामला सभी के सामने खुला है.


पूरी टीम सट्टेबाज को जानती थीउन्होंने कहा कि पाकिस्तान की पूरी टीम उस सट्टेबाज को जानती थी और अधिकारी भी. वह व्यक्ति आधिकारिक दौरों पर पाकिस्तान (Pakistan) आता रहता था. उसे पीसीबी (PCB) आमंत्रित करती थी. मैं कभी उसे निजी तौर पर नहीं जानता था. मेरा उससे यह कहकर परिचय कराया गया था क्योंकि हम दोनों एक ही धर्म से जुड़े थे.इस विवाद में कनेरिया के एसेक्स के साथी मर्विन वेस्टफील्ड को दो महीने की जेल की सजा हुई थी. उन्होंने सट्टेबाज अनु भट्ट से एक ओवर में 12 रन देने के लिए 7862 डॉलर लेने की बात स्वीकार की थी. कनेरिया को इस मामले में बिचौलिया करार दिया गया था, जिन्होंने मर्विन का परिचय भट्ट से कराया था. कनेरिया ने कहा कि कोई भी इस बारे में क्यों बात नहीं करता. वे सच्चाई क्यों बयां नहीं करते. मैंने अपना पूरा खेल ईमानदारी के साथ खेला.

हिंदू होने के कारण होता था भेदभावदानिश कनेरिया उस समय सुर्खियों में आए थे, जब दुनिया के सबसे तेज गेंदबाज शोएब अख्तर (Shoaib Akhtar) ने पाकिस्तानी टीम के खिलाफ बड़ा बयान देते हुए खुलासा किया था कि ड्रेसिंग रूम में दानिश कनेरिया (Danish Kaneria) के साथ भेदभाव होता था. हिंदू होने की वजह से खिलाड़ी उनके साथ खाना नहीं खाते थे. हालांकि अब इस मुद्दे पर बवाल के बाद शोएब अख्तर अपने बयान से पूरी तरह पलट गए हैं.