Thursday, 12 December 2019

बिग बाउट मुक्केबाजी लीग : राइनोज ने ओडिशा को 4-3 से दी मात

नॉर्थईस्ट राइनोज को गुरुवार को यहां के इंदिरा गांधी इंडोर स्टेडियम परिसर में स्थित केडी जाधव हाल में खेले गए बिग बाउट मुक्केबाजी में एक रोमांचक मैच में ओडिशा वॉरियर्स को 4-3 से हरा दिया।

इस मैच में राइनोज ने अपनी कप्तान निखत जरीन के मुकाबले को ब्लॉक कर दिया था क्योंकि टीम उन्हें आगे के मैचों के लिए बचाना चाहती थी। राइनोज के लिए हालांकि दूसरे मैच में एक अच्छी बात हुई जो उसकी जीत का अहम कारण रही। जासुरबेक लातिपोव के अयोग्य करार दिए जाने से राइनोज को फायदा मिला।

राइनोज को उस समय फायदा हुआ जब जासुरबेक लातिपोव को लालडिन माविया के खिलाफ कमर के नीच मुक्का मारने के कारण अयोग्य करार दे दिया गया। 52 किलोग्राम भारवर्ग के मुकाबले में लालडिन माविया बैकफुट पर थे। दो राउंड के बाद उज्बेकिस्तान के लातिपोव जीत की स्थिति में दिखाई दे रहे थे लेकिन नाकआउट पाने की चाह में लातिपोव ने कमर नीचे मुक्का लगाया और लालडिन को गिरा दिया। इसके बाद जजों ने रेफरियों के साथ विचार-विमर्श कर बिना देरी किए 28 साल के लातिपोव को अयोग्य करार दिया।

इसने राइनोज की बढ़त को दोगुना कर दिया था क्योंकि पहले मैच में महिलाओं के 64 किलोग्राम भारवर्ग में पिलाओ बासुआतारी ने संध्या रानी को 4-1 से मात दे राइनोज को 1-0 से आगे कर दिया था।

इसके बाद वाले मैच में 69 किलोग्राम भारवर्ग में मनदीप जांगड़ा और जाखनगीर राखमोनोव रिंग में उतरे थे जहां मनदीप ने जीत हासिल की। ओडिशा की शिक्षा ने महिलाओं के 51 किलोग्राम भारवर्ग में मीनाक्षी को मात दे राइनोज की जीत के इंतजार को थोड़ा बढ़ा दिया।

अगले मुकाबले में राइनोज की तरफ से फ्रांसिस्को वेरोन रिंग में उतरे थे जिन्होंने ओडिशा के प्रमोद कुमार को मात दे राइनोज की जीत तय कर दी। हालांकि अंकतालिका में तीसरा स्थान हासिल करने के लिए राइनोज को दो अंकों की दरकार और थी।

सतेंदर सिंह ने राइनोज के विरेंदर को मात दे। वहीं मोहम्मद इब्राहिम ने पुरुषों के 57 किलोग्राम भारवर्ग के मुकाबले में राइनोज के मोहम्मद इताश को हरा ओडिशा को तीसरे स्थान पर बने रहने में मदद की।

इससे पहले, नॉर्थईस्ट ने टॉस जीता और युवा महिला निखत जरीन के मुकाबले को ब्लॉक कर दिया। टीम एमसी मैरी कॉम और इंगित वालेंसिया के खिलाफ आगे होने वाले मुकाबले के लिए निखत को आराम देना चाहती थी। इस टीम ने अरशी खानम के स्थान पर सुनीता को चुना लेकिन वह कमजोर चुनाव साबित हुईं।