Tuesday 17 September 2019

दादा, माही या कोहली किसकी कप्तानी में भारतीय टीम है सबसे खतरनाक, दें अपनी राय

एक समय भारतीय टीम बुरी तरह बिखर गई थी। लेकिन दादा ने टीम को इकट्ठा करके खिलाड़ियों का हौसला बढ़ाया और टीम को जीतना सिखाया। दादा के बाद धोनी टीम को और आगे ले गए।
माही की कप्तानी में टीम ने वनडे और टी20 विश्व कप सहित आईसीसी चैम्पियन्स ट्रॉफी भी जीती।
फ़िलहाल टीम की कमान विराट कोहली के हाथ में है।
आज हम सौरव गांगुली, महेंद्र सिंह धोनी और विराट कोहली की टीम देखते हैं और जानते हैं कि किसकी कप्तानी में टीम ज्यादा खतरनाक थी।

गांगुली की कप्तानी में टीम


Third party image reference
2003 का विश्व कप भारत ने दादा की कप्तानी में खेला था। भारतीय टीम ने इस विश्व कप में फाइनल तक का सफर तय करा था.
उस समय दादा की टीम में वीरेंद्र सहवाग, राहुल द्रविड़, सचिन तेंदुलकर, और युवराज सिंह जैसे गज़ब के बल्लेबाज थे।
लेकिन! बॉलिंग मजबूत न होने की वजह से टीम को फाइनल गवाना पड़ा।

धोनी की कप्तानी में टीम


Third party image reference
टीम इंडिया ने धोनी की कप्तानी में भारत ने टी20, चैंपियंस ट्रॉफी सहित 2011 का विश्व कप भी जीता था।
धोनी की कप्तानी में भारत के पास सचिन तेंदुलकर,वीरेंद्र सहवाग, युवराज सिंह,गौतम गंभीर और विराट कोहली जैसे बल्लेबाज थे।
युवराज सिंह के शानदार प्रदर्शन की बदौलत भारत ने 2011 विश्व कप जीता था।
जी हां! उन्होंने एक शतक और चार अर्धशतक की मदद से 362 रन बनाने के अलावा 15 विकेट भी लिए थे और टूर्नामेंट में चार बार मैन ऑफ द मैच बने थे।
इसके अलावा प्लेयर ऑफ द टूर्नामेंट चुने गए थे।

विराट कोहली की कप्तानी


Third party image reference
विराट कोहली की कप्तानी में ज्यादातर युवा खिलाड़ी हैं। जी हां! रोहित शर्मा, मयंक अग्रवाल, ऋषभ पंत (विकेटकीपर) और केदार जाधव इस टीम के स्‍टार बल्‍लेबाज़ हैं तो हार्दिक पंड्या और रविंद्र जडेजा जैसे शानदार ऑलराउंडर विरोधियों की हवा खराब कर देते है. जसप्रीत बुमराह और भुवनेश्वर कुमार की तेज चौकड़ी को युजवेंद्र चहल और कुलदीप यादव की स्पिन तिकड़ी का भरपूर साथ मिलता है.