Saturday 24 August 2019

अगर आप भी Earphone का करते हैं ज्‍यादा इस्‍तेमाल... तो हो सकता हैं ये बीमारी

नई दिल्ली: नाक , कान गला रोग विशेषज्ञ डॉ . डीके त्‍यागी बताते हैं कि बहुत सारे युवा ईयरफोन या हेडफोन के जरिए काफी लाउड म्यूजिक सुनना पसंद करते हैं | आजकल के आधुनिक ईयरफोन और हेडफोन में काफी सारे ऐसे फीचर्स आते हैं जिन्हें तेज वॉल्यूम में सुनने के बाद काफी अच्छा लगता है लेकिन उसका नुकसान भी आपके शरीर पर होता | आप जब भी अपने हेडफोन या ईयरफोन में वॉल्यूम को बढ़ाते होंगे तो एक लिमिट के बाद उसमें एक वार्निंग दी जाती होगी | 
उसका मतलब है कि अगर आप अपने ईयफोन ( Earphone) की वॉल्यूम उस लिमिट से आगे बढ़ाएंगे तो वो आपके कान को नुकसान पहुंचा सकती है | ईयरफोन और हेडफोन के जरिए तेज वॉल्यूम में गाने या कुछ भी सुनना आपके कान की सुनने की असल क्षमता को धीरे-धीरे कम करता जाता है |
प्रेस बाइकुसिस के हो जाएंगे शिकार
अगर लगातार Earphone या Headphone का इस्‍तेमाल करते हैं तो अभी अपनी आदत बदल लें | नहीं तो आपका कान कम दूरी की चीजों को सुनने का आदी हो जाएगा और ऐसे में दूर की चीजों को बिना ईयरफोन या हेडफोन के सुनने में आपको दिक्‍कत होगी | इसे मेडिकल साइंस की भाषा में प्रेसबाइकुसिस कहते हैं |
इंफेक्शन का खतरा
आपसे कोई आपका ईयफोन ( Earphone) या हेडफोन मांगता है तो आप उसे तुरंत दे देते हैं |