Saturday 24 August 2019

10 करोड़ भारतीय हो सकते हैं डायबिटीज का शिकार

हिंदुस्तान में हर रोज़ लोग डायबिटीज का शिकार होरहै है सुगर का ज़यादा इस्तेमाल से होरहै है डायबिटीज का शिकार मना जरा है के 2030 तक लगभग 10 करोड़ भारतीय हो सकते हैं डायबिटीज
हाल में हुए एक अध्ययन की मानें तो २०३० तक भारत में करीब ९.८ करोड़ लोग टाइप-२ डायबिटीज के शिकार हो सकते हैं। डायबिटीज एक गंभीर समस्या है,
जिसके मरीजों की संख्या विश्वभर में तेजी से बढ़ रही है। २०१८ में जहां दुनियाभर में डायबिटीज मरीजों की संख्या जहां अभी ४०.६ करोड़ है वहीं २०३० तक ये संख्या 51.1 करोड़ हो जाएगी, यानी डायबिटीज रोगियों की संख्या में लगभग ५ प्रतिशत का इजाफा हो जाएगा। चौंकाने वाली बात ये है कि इनमें से आधे से ज्यादा मरीज सिर्फ भारत, चीन और यूएस से होंगे।
यह अध्ययन लैंसेट डायिबिटीज एंड एंडोक्रिनोलॉजी जर्नल में प्रकाशित हुआ है। इस अध्ययन के मुताबिक २०३० तक चीन में डायबिटीज के सबसे ज्यादा मरीज (१३ करोड़) होंगे, जबकि भारत डायबिटीज मरीजों की संख्या में विश्व का दूसरा (९.८ करोड़) सबसे बड़ा देश होगा। इस अध्ययन के मुताबिक इन डायबिटीज मरीजों को ठीक करने के लिए अगले १२ सालों में अभी से २० गुना ज्यादा इंसुलिन की जरूरत पड़ेगी।