Saturday 6 July 2019

जन्मदिन स्पेशल: धोनी हैं महान, मशीन से भी तेज माही करते हैं ये काम !

टीम इंडिया के विकेटकीपर महेंद्र सिंह धोनी 38 साल के होने वाले हैं,लेकिन इंटरनेशनल क्रिकेट में स्टम्पिंग के मामले में उनकी तेजी का कोई सानी नहीं है।

Google
धोनी बिजली की फुर्ती से स्टम्पिंग के लिए जाने जाते हैं। इसलिए भारतीय क्रिकेट में कहावत बन चुकी है कि “चीते की चाल.. बाज की नजर और धोनी की स्टंपिंग पर शक नहीं करते, कभी भी मात दे सकती हैं।”

Google
धोनी इतनी तेजी से स्टम्पिंग करते हैं की क्रीज पर मौजूद खिलाड़ी को भी यकीन नहीं होता। 2018 में वेस्टइंडीज टीम के भारत दौरे पर खेले गए चौथे वनडे मैच में रविंद्र जडेजा की गेंद पर धोनी ने सबसे तेज स्टम्पिंग का रिकॉर्ड बनाया था। कैरिबियाई ऑलराउंडर कीमो पॉल को 0.08 सेकेंड में ही स्टम्प आउट कर दिया था। ये अकेला वाकया नहीं है, ऐसे बहुत सारे मौके हैं जब मानी ने अपनी तेजी से सबको चौंकाया है।

Third party image reference
धोनी अपने करियर के शुरुआती दौर से ही इस तेज स्टम्पिंग के लिए जाने जाते हैं। यही कारण है कि धोनी दुनिया के अकेले विकेटकीपर हैं,जिन्होंने वनडे इंटरनेशनल क्रिकेट में 100 या उससे ज्यादा स्टम्पिंग की हैं।
टीम इंडिया के लिए डीआरएस मतलब धोनी रिव्यू सिस्टम

Third party image reference
डीआरएस का मतलब होता है डिसीजन रिव्यू सिस्टम,लेकिन टीम इंडिया के लिए है धोनी रिव्यू सिस्टम। कप्तान विराट कोहली को जब भी मैदान पर डीआरएस लेना होता तो उनक नजरें धोनी को ढूंढती है। अगर धोनी ने कह दिया की बल्लेबाज आउट है तो कोहली बेझिझक डीआरएस ले लेते हैं। 10 में से 9 बार डीआरएस को लेकर लिया गया धोनी का फैसला सही रहता है।