Thursday, 11 July 2019

मैच के बाद धोनी ने स्वीकार की अपनी गलती, कहा-यदि ऐसा न करता तो हम फ़ाइनल में होते

मैनचेस्टर में विश्व कप 2019 के पहला सेमीफाइनल मैच में भारत को न्यूजीलैंड ने 18 रन से हरा दिया। टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने उतरी न्यूजीलैंड की टीम ने 50 ओवर में 8 विकेट पर 239 रन बनाए। इसके जवाब में भारतीय टीम 49.3 ओवर में 10 विकेट पर 221 रन बनाए। गौरतलब है कि ये मैच मंगलवार को खेला जाना था, लेकिन बारिश की वजह से ये तय दिन में पूरा नहीं हो पाया।

Third party image reference
भारतीय टीम की शुरुआत बेहद खराब रही। चार ओवर में ही टीम इंडिया ने अपने शीर्ष तीन बल्लेबाज गंवा दिए। दूसरे ओवर में रोहित शर्मा (1), तीसरे ओवर में विराट कोहली (1) और चौथे ओवर में केएल राहुल (1) चलते बने। मैट हैनरी और ट्रेंट बोल्ट की जोड़ी ने 10वें ओवर में दिनेश कार्तिक (6) को भी पवेलियन की राह दिखा दी।

Third party image reference
एक समय हार के मुहाने पर खड़ी टीम इंडिया के लिए जडेजा ने संकट मोचक बनते हुए मैच को आखिरी तक पहुँचाने में सफल रहे। इंडिया के 92 रन पर छह विकेट गिरने के बाद बल्लेबाजी करने आए जडेजा ने मात्र 38 गेंदों में अर्धशतक जड़ा। आउट होने से पहले जडेजा ने 59 गेंदों में 4 चौके और 4 छक्के की मदद से सर्वाधिक 77 रन बनाए।

Third party image reference
मैच के बाद धोनी ने कहा कि इस पिच पर बल्लेबाजी करना मुश्किल काम था इसके बावजूद जडेजा ने शानदार खेला। उन्होंने कहा मैंने काफी समय लिया लेकिन 49वें ओवर में जब छक्के आ गए थे तो हमें डबल लेने का रिस्क नहीं लेना चाहिए था। उन्होंने कहा कि यदि मैं रन आउट नहीं होता तो हम फ़ाइनल में होते और विश्वकप के दावेदार रहते।