Monday 15 July 2019

क्या न्यूजीलैंड को संयुक्त विजेता घोषित किया जाना चाहिये था? ये कैसा इंसाफ, बोले दिग्गज


Third party image reference
विश्व कप के फाइनल का कोई नतीजा न निकलने के बाद बाउंड्री काउंट रूल के हिसाब से इंग्लैंड को विश्व कप दे दिया गया है। अब इस पर सवाल उठ रहे हैं कि ये कैसा इंसाफ, जब दोनों ही टीमों ने बराबर रन बनाये, सुपर ओवर मेंं भी दोनों टीमों ने बराबर रन बनाये तो फिर एक टीम को बाउंड्री काउंट करके विश्व कप दे दिया गया। ये कैसा इंसाफ है।

Third party image reference
अब सवाल उठ रहा है जब मैच वर्षा या अन्य किसी प्राकृतिक आपदा के कारण फाइनल मैच बाधित हो जाता है तो दोनों ही टीमों को संयुक्त विजेता घोषित किया जा सकता है तो 100 ओवर के बाद सुपर ओवर में यदि मुकाबला बराबर रहता है तो दोनों ही टीमों को संयुक्त विजेता क्यों नहीं घोषित किया जा सकता। क्रिकट्रेकर की रिपोर्ट के अनुसार दुनिया भर के दिग्गज क्रिकेटरों ने आईसीसी के इस नियम कड़ी आलोचना की है। इस नियम को लेकर मोहम्मद कैफ, गौतम गंभीर, ब्रेट ली, ब्रायडन कावरडेल, स्टीफन फ्लेमिंग, डीन जोन्स,रसेल अर्नाल्ड, टॉम मूडी, रमीज राजा, स्कॉट स्टायरिस ने ट्वीटस कर अपनी तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त की है।

Third party image reference
इस नियम ने केन विलियमसन को दुखी कर दिया है। यह सभी को मालूम है कि रविवार को ऐतिहासिक लॉर्ड्स के मैदान में न्यूजीलैंड और इंग्लैंड के बीच विश्व कप का फाइनल मैच खेला गया। इस मैच के 100ओवरों में कोई नतीजा नहीं निकला तो सुपर ओवर खेला गया। इसमें भी मामला टाई रहा। इसके बाद आईसीसी के नियम अधिक बाउंड्री वाली टीम को विजेता घोषित किया जाए, के अनुसार इंग्लैंड को विश्व विजेता घोषित कर दिया गया है।