Tuesday 9 July 2019

मोमोज का ये सच जानने के बाद आप भी खाना छोड़ देंगे, क्लिक कर जानिए

जैसा कि आप सभी लोग जानते होंगे कि मोमोज एक चाइनीज डिश है। हालांकि यह भारत में भी उतना ही लोकप्रिय है, जितना चाइना में। चाहे कोई भी क्षेत्र हो, हमें कहीं ना कहीं मोमोज के ठेले जरूर देखने को मिल जाएंगे। आजकल के युवा मोमोज को अत्यधिक मात्रा में पसंद कर रहे हैं। लेकिन जिस तरह से मोमोज का सेवन किया जा रहा है, वह बहुत ही चिंताजनक है। लोग अपने स्वाद के लिए मोमोज का सेवन करते हैं। लेकिन इसके सेवन से होने वाले नुकसान के बारे में आप लोग नहीं जानते होंगे। आइए जानते हैं
आप लोगों को बता दे कि मोमोज को मैदे से बनाया जाता है और हर रोज मैदे का सेवन करना बहुत ही खतरनाक होता है। बता दे कि मोमोज परिष्कृत गेहूं का आटा होता है जिसमें फाइबर की बिल्कुल भी मात्रा नहीं होती है। वही मैदे को सफेद और चमकदार बनाने के लिए बेंजोइल पराक्साइड का प्रयोग होता है। यह बहुत ही हानिकारक होता है। आप सोच सकते हैं कि यह हमारे पेट में जाता है तो हमें कितना नुकसान पहुंचाता होगा।
मैदे के सेवन से होते है यह नुकसान दोस्तों
फास्ट फूड में ज्यादातर मैदे का ही इस्तेमाल होता है। मोमोज भी एक फास्ट फूड है जो मैदे से बनता है। बता दे कि मैदे का सेवन करने से शरीर में शुगर लेवल बढ़ जाता है। मैदे में हाई ग्‍लाइसेमिक इंडेक्‍स होता है।

Third party image reference
जब हमारे शरीर में ब्लड शुगर लेवल बढ़ जाता है तो खून में ग्लूकोज जमा होने लगता है। इसी कारण गठिया और हृदय से जुड़ी बीमारियां होने लगती हैं।
मैदे में फाइबर ना होने की वजह से वह पेट में जाकर आसानी से नहीं पचती है। इस वजह से कब्ज, एसिडिटी, सिरदर्द, मितली जैसी समस्याएं होने लगती है।

Third party image reference
जो लोग हर रोज मैदे से बनी चीजें जैसे मोमोज, चाऊमीन का सेवन करते हैं उनको ऐसा नहीं करना चाहिए क्योंकि इससे रोग प्रतिरोधक क्षमता कमजोर हो जाती है।
जब मैदे का निर्माण किया जाता है तो उसमें से प्रोटीन को निकाल लिया जाता है। इस तरह से ये एसिडिक बन जाता है। इस कारण हमारी हड्डियों से कैल्शियम का अवशोषण होता है और हड्डियां कमजोर होने लगती हैं।