Thursday 18 July 2019

शुगर को रखें कंट्रोल में नही तो हो सकता है बड़ा नुकसान



शोध इस बात का खुलासा हुआ है कि ज्यादा चीनी का सेवन और सामान्य मानसिक विकारों में आपस में संबंध होता है। कहा जाता है कि जितनी ज्यादा मात्रा में चीनी का सेवन करोगे उतना ही मानसिक तनाव में बढ़ोतरी होती है।
इसी को ध्यान में रखते हुए विश्व स्वास्थ्य संगठन ने लोगों से सिफारिश की है कि लोगों को रोजना खाना वाली चीन में 5 फीसदी कमी करनी चाहिए। ऐसा इसलिए क्योंकि चीनी के शौक को एकदम से कम नही किया जा सकता है। यहां फल,दूध,सब्जियों में पायी जाने वाली प्राकृतिक चीनी की बात नहीं की जा रही है।
जब ​ब्रिटेन और अमेरिका में इसका सर्वे किया गया तो, पाया कि ब्रिटेन के लोग दोगुनी मात्रा में और अमेरिका के ​लोग तीगुनी मात्रा में चीनी का सेवन करते हैं। चीनी की तीन चौथाई मात्रा तो अन्य पदार्थ जैसे, कोक,केक और शीतल पेय से मिलती है।
साल 2002 की एक रिपोर्ट के अनुसार ऐसे देशों का अध्ययन किया गया जहां चीनी की अधिक खपत पायी गई। इस रिपोर्ट में बताया गया कि वहां के लोगों में अवसाद का खतरा उच्च पाया गया। जब अवसाद के बारे में अध्ययन किया तो पाया कि जो लोग शुगर का अधिक सेवन कर रहे थे उनमें अन्य लोगों की तुलना में अवसाद 38 फीसदी ज्यादा पाया गया।