Saturday 11 May 2019

12वीं टॉपर को पुलिस ने बनाया एक दिन का कमिश्नर, जाने क्या था उसका पहला आर्डर

दोस्तों आप सभी को अनिल कपूर की फिल्म ‘नायक’ याद हैं? अरे वही फिल्म जिसमे सीएम का इंटरव्यू लेने के दौरान वे एक दिन का मुख्यमंत्री बन जाते हैं. अब ऐसा ही कुछ असल जिंदगी में भी घटित हुआ हैं. लेकिन यहाँ कहानी में एक ट्विस्ट हैं. इसमें एक लड़की एक दिन के लिए DCP (डिप्टी कमिश्नर ऑफ़ पुलिस) बनती हैं. ये अधिकार स्वयं ‘कोलकाता पुलिस विभाग’ ने इस लड़की को दिया हैं.

Third party image reference
अब आप सोच रहे होंगे कि आखिर पुलिस ने एक 12वी की छात्रा को एक दिन का कमिश्नर क्यों बना दिया? तो चलिए आपकी ये जिज्ञासा भी मिटा देते हैं. जैसा कि आप सभी जानते हैं हाल ही में 12वीं ISC (इंडियन स्कूल सर्टीफिकेट) बोर्ड के रिजल्ट आए हैं. ऐसे में ऋचा शर्मा नाम की एक स्टूडेंट ने इसमें 99.25 प्रतिसत अंक प्राप्त किये हैं. इन अंको को लाकर ये छात्रा देश में चौथे और अपने राज्य में पहले स्थान पर आई हैं. ऋचा को इस उपलब्धि के चलते सम्मान देने की दृष्टि से ही ‘कोलकाता पुलिस विभाग’ ने उन्हें एक दिन के लिए डिप्टी कमिश्नर बनाने का निर्णय लिया.

Third party image reference
इस बात की जानकारी स्वयं कोलकाता पुलिस ने अपने ट्विटर हैंडल पर शेयर की हैं. उन्होंने अपनी इस पोस्ट में तीन तस्वीरें भी साझा की हैं. इन तस्वीरों में ऋचा अपनी स्कूल ड्रेस में पुलिस स्टेशन के अंदर हैं. यहाँ स्टेशन के अधिकारी उन्हें फूल देकर सम्मानित करते दिखाई दे रहे हैं. इस दौरान सभी के चेहरे पर एक ख़ुशी दिखाई दे रही हैं. इन तस्वीरों को शेयर करते हुए कोलकाता पुलिस ने लिखा हैं कि “बधाई हो ऋचा. ऋचा सिंह (पिता इंस्पेक्टर राजेश कुमार सिंह) ने इस साल की आईएससी एक्साम में भारत में चौथा स्थान हासिल किया हैं. उन्हें इस दोपहर (बुधवार) आईपीएस राजेश कुमार के द्वारा अपने अच्छे प्रदर्शन के चलते एक दिन का डीसीपी बनाया गया हैं.”

Third party image reference


आपकी जानकारी के लिए बता दे कि ऋचा के पिता राजेश सिंह गरियाहाट थाने में बतौर एडिशनल ऑफिसर-इन-चार्ज के रूप में काम करते हैं. इस दौरान जब ऋचा से ये पूछा गया कि वे अपने पिता को कौन सा आदेश देना चाहती हैं तो उसने बड़े ही प्यार से कहा कि “मैं उन्हें जल्दी घर आने का आदेश देती हूँ.” ऋचा का ये आर्डर सुन उनके पिता की आँखें नम हो गई. गौरतलब हैं कि एक पुलिस की नौकरी के चलते अक्सर व्यक्ति को घर जाने में देरी हो जाती हैं. ऐसे में जब ऋचा को हाई लेवल पर आने के बाद एक आदेश देने का मौका मिला तो उसने पिता को जल्दी घर बुला उनके साथ ज्यादा टाइम बिताना चुना. वैसे आपको बता दे कि उस दिन ऋचा के पिता ने इस आर्डर का पालन भी किया और वे घर जल्दी चले गए.